शाबाश सुपौल पुलिस: 24 घंटे से कम वक्त में सुलझ गई अपहरण की गुत्थी

प्रदीप जैन/सुपौल
सुपौल/बिहार:  सुपौल पुलिस ने रिकॉर्ड समय में अपहरण के केस को सुलझाने में कामयाबी हासिल की है।पुलिस ने 24 घंटे के अंदर अपहरण की गुत्थी को सुलझाने में सफलता पायी है। पुलिस ने अपहरण करने वाले अपराधी सहित अपहृत को सही सलामत बरामद कर लिया।
क्या था मामला
29 मार्च की शाम सरेआम हथियार बंद अपराधियों ने रामप्रवेश नाम के लड़के का अपहरण किया। अपहरण की इस वारदात को डीडीसी आवास के पास अंजाम दिया गया था। जिसके बाद महज 24 घंटे के अंदर पुलिस न सिर्फ अपहरण की गुत्थी सुलझा ली है। साथ ही पुलिस ने अपहृत लड़के को भी सकुशल बरामद कर अपहरणकर्ता को  भी पुलिस ने गिराफ्तार कर लिया है ।
स्कॉर्पियो पर सवार चार अपराधियों ने राम प्रवेश का अपहरण कर लिया था । पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए डीडीसी आवास में लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच शुर की।  पुलिस की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ी तो ये सामने आ गया कि अपहरणकर्ता कोई और नहीं खुद उसका बहनोई ही था। जिसके बाद पुलिस की दविश के बाद राम प्रवेश को मघेपुरा से सकुशल बरामद कर लिया गया।
अपहरणकर्ता रंजेश कुमार  को भी गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन आरोपी बहनोई का कहना था कि शादी कराने के लिए ही राम प्रेवश का अपहरण किया था। वहीं इस बाबत एसपी मृत्युंजय चौघरी ने बताया कि  घटना के तुरंत बाद एक स्पेशल टीम का गठन कर सघन छापेमारी शुरु की गई। आपसी रंजिश में ही रामप्रवेश का अपहरण किया गया था। अपहरणकर्ता रंजेश ने अपने तीन साथियों की मदद से  घटना को अंजाम दिया था ।जिसमें रंजेश कि गिरफ्तारी के बाद तीन और साथी नसीम की भी तलाश में जुट गयी है ।
Loading...