सुपौल: खेत से अनाज नहीं शराब निकल रहे हैं वो भी नेपाली

प्रदीप जैन/सुपौल
सुपौल/बिहार:  शराबबंदी को लेकर आये दिन कई कदम उठाये जाते हैं। लेकिन शराब तस्करी पर अंकुश लगाना मुश्किल होता जा रहा है।हालांकि हमारे प्रशासन की सक्रियता से शराब तस्करी को रोकने के कई कदम उठाये जाते हैं । और वो सफल भी होते हैं।लेकिन शराब तस्कर भी रुकने का नाम ले रहे।
त्रिवेणीगंज पुलिस को और एक बार शराब की तस्करी को रोकने में सफलता हासिल हुई है। शुक्रवार को गुप्त सूचना के आधार पर थाना क्षेत्र के बभनगामा वार्ड नं 4 स्थित खेत से छुपा कर रखी गयी नेपाली शराब बरामद की गयी। बरामद शराब नेपाल निर्मित है। स्थानीय कृषक राजू झा पिता बलराम झा के खेत से बरामद शराब प्लास्टिक के बोरे में रखी गई थी। शराब की बोतल 180 एमएल की थी जिनकी संख्या करीब 600 बोतल बताई गई है। पुलिस की इस करवाई में थानाध्यक्ष राजेश्वर सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे बरामद करने में सफलता हासिल की हैं।
कुछ दिनों पहले पुलिस ने खुलासा किया था कि शराब तस्कर अब नेपाल का रुख कर रहे हैं। और नेपाल से कोशी नदी के रास्ते वो शराब की तस्करी करते हैं। जानकारी के मुताबिक शकाब तस्कर शराब को प्लास्टिक की बोतल में भरकर कोशी नदी में छोड़ देते हैँ। जो धारा के साथ बहते हुए दूसरी तरफ पहुंच जाता है। जिसे शराब तस्कर बाद में बाहर निकाल कर अलग अलग इलाकों में भेजते हैं।
Loading...