सुपौल: स्कूल में छेड़खानी करने वाले शिक्षक के खिलाफ छात्रा ने की शिकायत

 प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
सुपौल/बिहार:  सरकार भले ही आधी आबादी को बराबरी का दर्जा देने के लिए कृतसंकल्प हो लेकिन आज भी समाज में महिलाओं के प्रति लोगों का नजरिया नहीं बदला है | स्कूल को मंदिर का दर्जा दिया जाता है जहां लड़के हो या लड़कियां सभी शिक्षा ग्रहण करने जाते हैं। लेकिन जब गुरूजी स्कुल में मौजूद लड़कियों से इश्क लड़ाने लगे या उसे छेड़ने लगे तो जाहिर है लड़कियां आवाज उठायेगी |जब मास्टर साहब के वासना का जुनून पार कर गया तो छात्रा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के पास पहुँच फ़रियाद मांगने लगी ।अब देखना है कि पीड़ित लड़की को न्याय मिलता है या फिर एक बार पैसे और रसूख के बल पर मास्टर साहब बाइज्जत बरी हो जाते हैं ।
ये मामला पिपरा थाना क्षेत्र के सखुआ स्थित मध्य विद्यालय का है जहां मास्टर साहब के गलत हरकत की वजह से सातवीं की छात्रा ने  शिक्षा अधिकारी के कार्यालय पहुंची। पीड़ित छात्रा ने बीईओ से न्याय की गुहार लगाई है| पीड़ित छात्रा सातवीं क्लास में पढ़ती है। इसका आरोप है कि इसके साथ महीनो से क्लास टीचर देवनंदन मेहता गलत हरकत करते आ रहे हैं।

छेड़छाड़ का ये सिलसिला किसी एक दिन का नहीं है बल्कि रोजाना की बात है। मंगलवार को भी आरोपी शिक्षक ने छात्रा के साथ छेड़खानी की । महीनों से बर्दाश्त करती आ रही सातवीं क्लास की छात्रा के सब्र का बांध मंगलवार को टूट गया, और रोते रोते  वो अपने घर पहुँच परिजन को आप बीती सुनायी|
परिजनों के निर्णय पर तत्काल इसकी शिकायत लेकर पीड़ित छात्रा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय जाकर उन्हें अपने साथ हुई आपबीती बताई|बीईओ ने छात्रा के  शिकायत पर तुरंत जांच कर कार्रवाई का भरोसा भी दिया है| इधर अपने साथ हुई इस घटना से छात्रा डरी सहमी हुई है |
Loading...