सुपौल: अमीना खातून ने भीख मांगकर अपने घर में शौचालय बनवाया

सुपौल: अमीना खातून ने भीख मांगकर अपने घर में शौचालय बनवाया

प्रियांशु आनंद/सुपौल
सुपौल/पुर्णिया:  भीख मांग कर पेट पालना और ईलाज करवाना ये बात पुरानी हो गयी  है। लेकिन भीख मांग पर सरकार की योजना को सफल बनाने की कहानी  सुपौल मे पहली बार सामने आयी है ।अगर जज्बा हो तो उम्र के किसी पड़ाव में बदलाव लाया जा सकता है और समाज के सामने एक नजीर पेश की जा सकती है । ऐसा ही  किया है सुपौल जिले के पथरा उत्तर पंचायत की रहने वाली अमीना खातून ने। उम्र के 60  वे पड़ाव पर कर दिखाया। उसने भीख मांगकर कर अपने घर शौचालय का निर्माण करवाया। प्रघानमंत्री स्वच्छता अभियान से प्रेरित होकर  उसने ये काम कर दिखाया है । जो इन दिनों लोगों के लिए चर्चा का विषय का बना हुआ है ।
साधारण दिखने वाली वृद्ध अमीना खातून ने वो कर दिखाया है जिससे आज भी भारत के कई लोग वंचित है । अगर आपने अब तक अपने घर शौचालय का निर्माण नही कराया है तो इस खबर को देख आपको सीख लेनी चाहिए ओर जैसे भी हो शौचालय का निर्माण करवाना चाहिए । लोक लज्जा से परेशान अमीना गांव  जब ईलाके में शौचालय निर्माण होता देखती थी तो उसे भी लगता था कि मेरे घर भी शौचालय होता तो आज बाहर शौच नही जाना पड़ता। दरअसल गांव को ओडीएफ घोषित करने की तैयारी जोर शोर से चल रही थी । लेकिन उसके पास समस्या पैसे की थी तो उसने भीख मांगना उचित समझा ओर अपने घर शौचालय का निर्माण करा लिया ।जिसमें कुछ स्थानीय लोगो ने भी उसका हौसला बढाया।आज अमीना ईलाके मे चर्चा का विषय बनी हुई है ।
 दरअसल पथरा उत्तर पंचायत को ओडीएफ घोषित करने की तैयारी जब अपने परवान पर थी तो अमीना अंदर ही अंदर तड़प रही थी ।क्योंकि सरकार की इस योजना का लाभ शौचालय निर्माण कराने के बाद ही प्राप्त होता है ।गांव मे उत्तप्रेरक ,महिला वार्ड सदस्य लोगों को किसी भी हालत मे शौचलाय निर्माण कराने के लिए जागरुक कर थी। जिससे प्रभावित अमीना ने गांव में ही भीख मांगना शुरु कर दिया और जैसे ही उसके पास पैसे हो गये उसने शौचालय का निर्माण करा लिया ।शुरु में तो लोगों ने इस मामले को गांव की इज्जत से जोड़ कर दबा दिया था ।लेकिन एक समाजसेवी की नजर उस पर पड़ी तो उसने बकायदा उसकी मदद के लिए हाथ आगे बढाये। वहीं प्रशासन ने भी उसे सम्मानित किया।
Loading...