अब पूर्णिया के किसानों को भी ‘बिहार शताब्दी निजी नलकूल योजना’ का लाभ मिलेगा

नीरज कुमार झा/ पूर्णियां

किसानों को सिंचाई की समुचित सुविधा के लिए सरकार ने बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना की शुरुआत की है। सरकार के स्तर से योजना क्रियान्वयन कराने का निर्देश सभी जिले के जिलाधिकारी को दिया गया है। योजना क्रियान्वयन जिलाधिकारी के निर्देश पर जिला कृषि पदाधिकारी ने सभी बीडीओ व बीएओ को पत्र निर्गत कर योजना से संबंधित जानकारी किसानों को उपलब्ध कराया है।

जल्द ही जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कृषि विभाग एवं लघु सिंचाई विभाग के अधिकारियों की बैठक कर योजना क्रियान्वयन विस्तार से चर्चा होगी। बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना के तहत किसानों को निजी बोरिंग व पंपसेट के माध्यम से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए योजना शुरु की गई है। यह योजना अत्यंत महत्वाकांक्षी है। बिहार की अर्थव्यवस्था में कृषि की भूमिका को देखते हुए योजना प्रारंभ किया गया है।

योजना क्रियान्वयन में किसकी क्या भूमिका है?

इस योजना के क्रियान्वयन करने की जवाबदेही विभागीय स्तर पर जिले में जिलाधिकारी, उप विकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड कृषि पदाधिकारी को सौंपा गया है। इनके स्तर से योजना की जानकारी के लिए प्रचार प्रसार करने के साथ अधिक से अधिक किसान योजना के लाभ से लाभान्वित हो इसे भी सुनिश्चित कराना है। इनमें बीडीओ एवं कृषि समन्वयक एवं किसान सलाहकार की प्रमुख भूमिका है। इनके माध्यम से किसानों को अधिक से अधिक योजना संबंधी जानकारी देने तथा ¨सचाई के लिए प्रोत्साहन कर सर्वाधिक आवेदन प्राप्त करना है।

कैसे करेंगे योजना क्रियान्वयन ? 

किसानों के आवेदन प्राप्त करने के बाद स्वीकृति से पूर्व लघु जल संसाधन विभाग के कनीय अभियंता के साथ स्थल जांच करनी है। योजना की स्वीकृति प्रखंड स्तर पर प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा किया जाएगा। स्वीकृति बाद ही बोरिंग कार्य प्रारंभ किया जाएगा। योजना की पूर्णता की जांच लघु एवं सिंचाई विभाग कनीय अभियंता, सहायक अभियंता, कृषि समन्वयक, कृषि सलाहकार, जनसेवक एवं वार्ड सदस्य द्वारा भी किया जाएगा। लघु जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता अनुशंसा बाद डीआरडीए द्वारा कार्य समाप्ति बाद सीधे किसान के खाता में भेजा जाएगा।

क्या कहते हैं अधिकारी ? 

पूर्णिया के जिला कृषि पदाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद ने कहा कि योजना क्रियान्वयन के लिए सभी बीडीओ व बीएओ को बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना क्रियान्वयन के लिए पत्र निर्गत किया गया है। जल्द ही किसानों को योजना के लाभ से लाभान्वित कराने के लिए आवेदन प्राप्त किए जाएंगे। योजना अभी प्रारंभिक दौर में है।

Loading...