सहरसा: पुलिस मोबाइल चोरी को छोटा केस मानती है इसलिए FIR दर्ज नहीं करती!

तेजस्वी ठाकुर/सहरसा
सहरसा/बिहार:  पुलिस जिसे समाज के हर गुनाहों को खत्म करने का मसीहा माना जाता है। उसी पुलिस पर छोटे केस को दर्ज नहीं करने का आरोप लगा है। आरोप है कि सहरसा सदर चोरी के घटनाओं को छोटा मान कर केस दर्ज नहीं करती। व्यवहार न्यायालय के समीप एक  होटल से रतन कुमार मंडल की मोबाइल चोरी हो गयी। जिसके बाद वो एक जागरूक नागरिक होने के नाते मोबाइल चोरी की शिकायत करने सदर थाना पहुचे।
आरोप है कि फरियादी की आवेदन लेने से सदर थाना की पुलिस ने पूरी तरह से ना कह दिया। क्योंकि मामला छोटा है।फरियादी रतन कुमार मंडल मधेपुरा जिला के घैलार थाना क्षेत्र  निवासी हैं। जिसका मोबाइल होटल से चोरी हो गया। जिसे डर है कि उसके मोबाइल से कोई घटना न हो जाये। रतन कुमार पुलिस पर एफआईआर दर्ज ना करने का आरोप लगा रहे हैं।
फरियादी रतन कुमार मंडल ने कहा कि मोबाइल चोरी की शिकायत करने जब थाना पहुंचे। तो पुलिस पदाधिकारी ने मोबाइल चोरी नहीं गुम होने का आवेदन देने की बात कहीं। जिससे FIR नहीं सिर्फ सनहा दर्ज कर खानापूर्ति कर अपना पल्ला झाड़ रही है।
वहीं फरियादी लगातार पुलिस से मोबाइल बरामदगी की गुहार लगा रही है जिसे अनसुना कर रही सदर थाना की पुलिस ।ऐसे में छोटे मामले थाना जाने का सवाल ही नही उठता।और वही छोटा मामला बड़ा होने के बाद पुलिस के सिरदर्दी का कारण बनता है
Loading...