सहरसा में रिश्वत मांग रहा है सुशासन, बिना नोट दिखाए फाइल आगे नहीं बढ़ती

गौतम कुमार/सहरसा

सहरसा/बिहार:  कहने को तो सरकार घुस लेने और देने दोनों पर रोक लगाती है।लेकिन अगर कोई घुस न दे तो काम भी नहीं बनता।ऐसी ही एक सिमरी बख्तियार थाना के कठो के निवासी नरेश कुमार के साथ हुआ। उनका आरोप है कि उनके केवाला से पिता व चाचा को प्राप्त जमीन पर रौशन सिंह, कुदुस मिया, राजीना खातून ,रामोतार यादव ,पन्नेलाल यादव,परमेश्वरी यादव ,सीताराम यादव ,व गुलटेन यादव द्वारा बल पूर्वक कब्ज़ा कर लिया गया।

इस विषय पर उन्होंने थाना में आवेदन दिया। नरेश के मुताबिक जब वहां पैसे मांगे गए, और बिना पैसे के कोई करवाई न होने पर वो लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के पास भी गए ।लेकिन वहां के कर्मियों का रबैया ही अलग था। लोक शिकायत निवारण के कर्मचारियों पर भी नरेश कुमार ने पैसे मांगने के आरोप लगाए हैं। नरेश ने कहा  उनका कहना था पैसा दो तो फाइल आगे बढ़ेगा।जिससे नरेश यादव का मनोवल टूट सा गया। उनका कहना है “सरजी कही भी जाते है तो पैसा मांगता है हम तो गरीब है कहां से दें पैसा। अब तो डर लगता है कोई हमरे घर पर कब्ज़ा न कर ले।”

Loading...