सहरसा:रोजमर्रा में बढ़ता जा रहा जमीनी विवाद का मामला ,प्रशासन नही कर पा रहा क्राइम ग्राफ पर काबू

गौतम कुमार/सहरसा
सहरसा/बिहार:बिहार राज्य के सहरसा जिले में आज कल क्राइम ग्राफ गर्मी के साथ साथ बढ़ता ही जा रहा है।अक्सर जमीनी विवाद को लेकर लोग अपने परिवार तक का खून करने पर तुले रहते है।ऐसा ही एक मामला सहरसा जिलें के महिषी ब्लॉक के अन्तर्गत जलई थाना का हैं।

बताया जा रहा है कि आरघाट निवासी मो० मसूद अपने भाईयों के सिखाने पर अपनी पत्नी को गला घोंटकर जान से मारने का कोशिश कर किया। लेकिन पत्नी के चिल्लाने पर आस पास के लोग तुरन्त पहुंच गए।और बचा लिया जिसके बाद पत्नी द्वारा थाने में आवेदन दिया गया ।और पुलिस त्वरित करवाई करतें हुए उसके पति मो० मसूद को आवेदन के आधार पर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

इधर मो० मसूद का बारह वर्षीय पुत्र मो० आजाद घटना के बाद से ही लापता हैं।मो० आजाद की मां अपने पति के भाई और अन्य लोगों पर आरोप लगा रहीं हैं।कि जमीन हड़पने के कारण मेरे पति को उसके भाई और कुछ लोग सिखातें हैं कि तुम अपने पत्नी को मार डालों।

मो० आजाद की मां का आरोप है कि इन्ही लोगों द्वारा हमारें बच्चें मो० आजाद का अपहरण किया हैं।पीड़ित महिला आवेदन में दस लोगों पर आरोप लगा रहीं हैं।और कानून से गुहार लगा रहीं हैं कि हमारें आजाद को खोज के हमारें सामने ला दो।बेटे के याद में माँ का रो–रो कर बुरा हाल हो गया हैं।

लेकिन ये भी बात सामने आ रही है कि गुमशुदा पर्चा पे जो सम्पर्क नम्बर दिया गया है वो नम्बर चाचा का हैं।जिसपर आरोप लगा है जिस सम्बन्ध में बच्चें की मां का कहना हैं कि जिसें हमारा बच्चा मिलें वो महिषी जलई थाना को सूचना दें।

Loading...