सहरसा: सर्वे अभिलेखागार की हालत किसी भूत बंगले की तरह हो गई

गौतम कुमार/सहरसा

सहरसा/बिहार:  कचहरी स्थित सर्वे अभिलेखागार की स्थिति काफी गंभीर हो गयी है। वहां की हालत देखकर ये बता पाना मुश्किल है कि इलाके के अहम रिकॉर्ड रखे जाते हैं या वहां भूतों का बसेरा है। हालांकि अभिलेखागार में कागजातों की छेड़छाड़ करने के बाद उसे समाहरणालय में शिफ्ट किया गया था। जिसके बाद यहां ताला तो लग गया । लेकिन लगभग सारे कागजात बंद कमरे में सड़ रहे हैं। जिस वजह से लोगों को कागजात नकल नहीं मिल पा रहा है।

इस पर सरकार की नजर ना के बराबर है। जिसका फायदा दलालों द्वारा उठाया जा रहा है। जिस बंद कमरे में अभिलेख पड़ा हुआ है उस कमरे की खिड़की टूटी हुई है। और वहां पड़े अभिलेखों को आसानी से दलालों के द्वारा इधर- उधर किया जा रहा है। कई ऐसे लोग हैं जिनका न्यालय में जमीन संबंधित विवाद चल रहा है । और उन्हें कागजात के नक़ल की आवश्यक्ता पड़ती रहती है।

लेकिन उन्हें नक़ल के लिए दर-दर भटकने के बाद भी नकल प्राप्त नहीं हो पाता। और वहीं दूसरी ओर उनके कागजातों को दीमकों द्वारा चट किया जा रहा है। जिस कारण आम लोगों में काफी आक्रोश उत्पन्न हो रहा  है। लोगों ने जिलाधिकारी से इसके लिए उचित कार्रवाई की मांग की है। ताकि न्यायालयों में विवादों को सुलझाने के लिए नकल प्राप्त हो सके।

Loading...