पुर्णिया: छात्र जदयू ने कैंडिल मार्च निकाल कर देवेश को दी श्रद्धांजलि

नितीश कुमार/पुर्णिया

पुर्णिया/बिहार:  शुक्रवार टीओपी थाना अंतर्गत पॉलीटेक्निक छात्र के आत्महत्या करने के मामले के बाद छात्र जदयू पुर्णिया द्वारा देवेश को कैंडिल मार्च निकाल कर श्रधांजलि दी गयी। कैंडिल मार्च जिला स्कूल से आर एन साह चौक तक  निकाली गयी। शुक्रवार 16 मार्च को रजिस्ट्रार एवं कॉलेज प्रशासन के गैरजिम्मेदाराना बर्ताव से तंग आकर अजमत पॉलिटेकनिक कॉलेज किशनगंज के छात्र देवेश ने आत्महत्या कर ली थी। छात्र जदयू द्वारा कॉलेज प्रशासन के गैरजिम्मेदाराना बर्ताव का विरोध किया गया। और इंजीनियरिंग छात्र देवेश को श्रधांजलि दी गई ।

कैंडिल मार्च का नेतृत्व छात्र जदयू के जिलाध्यक्ष माणिक आलम कर रहे थे। कैंडिल मार्च निकाल रहे छात्र जदयू के नेताओं ने बताया कि आखिर कबतक छात्र के साथ अत्याचार होता रहेगा और छात्र आत्महत्या करने पर मजबूर होते रहेंगे। उन्होंने आत्महत्या करने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। जिसमें देवेश ने लिखा था कि कॉलेज के रजिस्ट्रार की धमकी से तंग आकर वो खुदकुशी कर रहा है।

इस मामले में अजमत पॉलिटेकनिक कॉलेज के रजिस्ट्रार के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने सुसाइड नोट और देवेश के परिजनों के बयान के आधार पर रजिस्ट्रार के खिलाफ केस दर्ज किया है।

देवेश के कमरे से मिला सुसाइड नोट

छात्र जदयू द्वारा कॉलेज एवं रजिस्ट्रार पर कार्यवाही की मांग की गयी। ताकि भविष्य में कोई छात्र ऐसी घटनाओं का शिकार न हो। इस मौके पर युवा जदयू के नगर प्रवक्ता सुशांत कुशवाहा, महानगर महासचिव मो० कैफ़ी, छात्र जदयू के जिला उपाध्यक्ष आलोक राज, छात्र जदयू के जिला महासचिव ओवेस करनी,किशल्य सिन्हा, छात्र जदयू के महानगर प्रभारी अजय कुमार साह,जिला सचिव गाजी अनवर,रमाकांत कुमार महतो,सन्नी कुमार,संजय कुमार, शुभम सिन्हा, पूर्णिया पूर्व प्रखण्ड अध्यक्ष प्रवेज आलम आदि दर्जनी छात्र नेता उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें, देवेश की पूरी कहानी

पूर्णिया: फीस के पैसे नहीं थे, देवेश ने मम्मी-पापा को Sorry बोलकर खुदकुशी कर ली

Loading...