पुर्णिया: बाल गंगा भारती स्कूल के स्थापना दिवस पर शराब और दहेज का बहिष्कार

नीतीश झा/पुर्णिया
पुर्णिया/बिहार:  गुलाबबाग स्थित मेला ग्राउंड में आयोजित बाल गंगा भारती स्कूल के 19 वें स्थापना दिवस पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलित और गणेश वंदना से किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत स्कूल निदेशक राजेश कुमार झा,प्रिंसिपल अमीषा झा प्राइवेट चिल्ड्रन स्कूल वेल फेयर एसोसिएशन के सचिव रूपेश नंदन के द्वारा किया गया। इस मौके पर उपस्थित अभिवावक और बच्चो को संबोधित करते हुए  स्कूल के निदेशक राजेश कुमार झा ने कहा कि आज नौनिहाल ही देश का भविष्य हैं। इसके लिए इन्हें बचपन से ही संस्कार देना होगा। ताकि जब ये बड़े हो तो यही बच्चे अपने देश के संस्कृति और अन्य बातों को बखूबी समझ सके।
वही रूपेश नंदन ने कहा कि समाज में कई ऐसे बच्चे अभी भी हैं, जो छोटे स्कूल में पढ़ते हैं लेकिन आने वाले भविष्य में देश मे बड़ा नाम करेंगे स्कूल कोई बड़ा छोटा नही होता है सिर्फ स्कूल में पढ़ाई कैसी होती है यह मायने रखता है ।
जिसके बाद स्कूली बच्चों के द्वारा एक से बढ़ कर एक सांस्कृक्तिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई।  बच्चों के द्वारा जीना है तो पापा शराब नहीं पीना ….जैसे गीतों की प्रस्तुति को लोगों ने बहुत सराहा। इसके बाद बच्चों के द्वारा  मानो तो गंगा मां हूँ ना मानो तो गंगा पानी ….इस क्रायक्रम को लेकर छोटे स्कूली बच्चों का समूह मंच पर पहुंचा ही था कि लोगों  ने तालियों से उनका स्वागत किया।
इसके अलावे बच्चे मन के सच्चे वन्दे मातरम ,शराब बंदी पर नाटक जैसे कई तरह के कार्यक्रम की प्रस्तुति बच्चो के द्वारा दी गई।
अभिवावक और बच्चों ने लिया शपथ
जीवन में शराब का सेवन नहीं करने और दहेज लेना अभिशाप है को लेकर कार्यक्रम में मौजूद अभिवावक, स्कूली बच्चे और लोगों ने शपथ लिया कि वे जीवन मे कभी शराब नहीं पियेंगे और दहेज जैसी समाजिक कुरीतियों का बहिष्कार करेंगे । इस मौके पर 40 बड़े पोस्टर लगाए गए थे जिनमें शराब बंदी और दहेज नहीं लेने का संदेश दिया गया था । जिसे लोगों ने खूब सराहा।
Loading...