पुर्णिया: बेवफा बीवी से जब एक पिता ने अपनी बेटी वापस पाई तो उसने पहली बार कहा…

नीरज झा/पुर्णिया
पुर्णिया/बिहार:  अपनी बेटी के प्रति एक बाप का प्यार देखकर पुलिस परिवार परामर्श केंद्र को भी पिता की जिद के आगे झुकना पड़ा और कानून से हटकर एक बाप को अपनी बेटी से मिलावाया। मामला मरंगा थाना क्षेत्र का है जहां मनोज कुमार के साथ उसकी पत्नी ने बेवफाई कर दी। पति के रहते उसकी पत्नी सोमन देवी का संबंध दूसरे युवक से हो गया। एक दिन सोमन देवी अपने पति का साथ छोड़ अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई।
सोनम साथ में अपनी 6 साल की बेटी को भी साथ ले गई। पत्नी की इस हरकत से मनोज कुमार की मानसिक स्थिति खराब हो गई और इसी क्रम में वह दुर्घटना का शिकार भी हो गया। करीब 6 महीने बिस्तर पर गुजारने के बाद अपने साथ हुए अन्याय के खिलाफ पुर्णिया आरक्षी अधीक्षक निशांत तिवारी के पास गुहार लगाई। पुलिस अधीक्षक निशांत तिवारी ने इस मामले को सुलझाने के लिए अपने संरक्षण में चल रहे पुलिस परिवार परामर्श केंद्र के पास भेज दिया।
पुलिस परिवार परामर्श  केंद्र ने मनोज कुमार की पत्नी को अनेकों बार नोटिस कर केंद्र में उपस्थित होने का आदेश दिया लेकिन वो हाजिर नही हुई। बार बार हर तारीख को आते जाते मनोज कुमार ने भी अपनी पत्नी के वापस आने की आस छोड़ दी। लेकिन मनोज कुमार को अपनी पत्नी से ज्यादा अपनी बेटी के भविष्य की चिंता सताये जा रही थी। अपनी बेटी का भविष्य बनाने के लिए बार बार वह केंद्र का चक्कर लगाने लगा। बार बार अपनी बेटी से मिलवाने की गुहार लगाते रहा।
अपनी बेटी के प्रति प्रेम को देखते हुए केंद्र ने पहल कर मरंगा थानाध्यक्ष ने टिकापट्टी थानाध्यक्ष से बात की। थानाध्यक्ष ने सोमन देवी को बुलाकर पहले अपने पति के पास वापस जाने को कहा मगर सोमन देवी ने अपने पति के साथ जाने से साफ साफ मना कर दिया। बेटी को पति को सौपने के सवाल पर बिना समय गवाएं सोमन देवी ने बेटी को अपने पति को सौप दिया। बेटी को पाते ही पति मनोज कुमार फूटफूट कर रोने लगा। उसने कहा मुझे जो अंदेशा था वह सही निकला। बिना समय गंवाये जो बेटी को सौंप दी उसके हाथ में मेरी बेटी के भविष्य का क्या होता? बेटी मिलने के बाद मनोज ने केंद्र आकर सभी को धन्यवाद दिया। और कहा मेरी बेटी ही मेरी शान है, बेटी को पढ़ाऊंगा और आगे बढ़ाऊंगा।
Loading...