पूर्णिया:आजादी के बाद से अबतक नहीं हुआ पुल का निर्माण, रिश्तेदारी में भी आफत 

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:श्रीनगर प्रखंड क्षेत्र में सैकड़ों ग्रामीणों ने झौआरी घाट पुल को ले गोलबंद होकर कहा कि पुल नहीं बनने से 50 हजार लोगों की आस टूट रही है। तीन किलोमीटर के बदले उन्हें दस किमी का सफर तय करना पड़ता है। साथ ही ग्रामीणों को प्रखंड कार्यालय, कृषि कार्यालय, हाट बाजार, पुलिस स्टेशन, स्वास्थ्य केंद्र, बैंक शाखा, आने जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इस इलाके लोगों को झौवारी घाट पार करने के लिए टूटे नाव का ही सहारा रहता है। ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने पिछले चुनाव में वोट का बहिष्कार किया था लेकिन इसके बाद भी जनप्रतिनिधियों के द्वारा पुल निर्माण की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया। अब जबकि दोबारा चुनावी मौसम शुरू होने को है और नेताओं का आना जाना शुरू होने लगा है। उन्होंने कहा कि अबकी बार भी वे चुनाव में वोटिंग का बहिष्कार करेंगे।

ग्रामीण चतुर मरांडी, मीणा हेम्ब्रम, ताला मुर्मू, सुमित हांसदा, सुमन कुमार, धनंजय कुमार, लखन मुर्मू एवं दर्जनों लोगों ने कहा कि कभी कभी तो घंटों बैठकर नाव की आस देखनी पड़ती है। उस पर भी नाव टूटने के कारण दो चार आदमी ही पार हो पाते हैं। क्योंकि नाव टूटा रहने के कारण चारों तरफ से पानी भर जाता है। जिससे अधिक भार होने पर हादसे की आशंका बनी रहती है।

…नहीं करना चाहते हैं इस गांव में लोग शादी।

इस इलाके के लोग आजादी के बाद भी अबतक आजाद नहीं हो सके हैं और बुनियादी सुविधाओं को तरस रहे हैं। इस इलाके में सालोंभर लोगों को पानी व कीचड़ का सामना करना पड़ता है। लेकिन इसके बाद भी न तो प्रशासनिक स्तर पर और न ही जनप्रतिनिधियों के द्वारा कोई कार्रवाई की गई। जिस कारण वे खुद को गुलाम जैसा ही अनुभव करते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि आवागमन की सुविधा नहीं रहने के कारण उनके बच्चों की शादी तक नहीं हो पाती है।

रिश्तेदारों की मदद से ही किसी तरह बेटियों की शादी हो पाती है। अन्यथा बाहरी लोग इस इलाके में अपने बच्चों की शादी करना तक नहीं चाहते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पुल का निर्माण हो जाने से केनगर, श्रीनगर, चंपानगर, जलालगढ़, गढ़बनेली, कसबा के बाजार से सीधा संपर्क हो जाएगा और उन्हें काफी राहत मिलेगी। साथ ही सरकारी कार्यालय, पुलिस थाना, हाट बाजार, स्वास्थ्य केंद्र, बैंक समेत बच्चों को स्कूल कॉलेज आने जाने में भी राहत मिलेगी।

…पुल निर्माण को ले प्रस्ताव भेजा गया है : 

झौआरी घाट पुल के निर्माण का प्रस्ताव भेजा गया है जैसे ही वहां से आदेश जारी होगा डीपीआर तैयार कर निर्माण कार्य की दिशा में पहल कर दी जाएगी।

: अाफाक आलम, कसबा विधायक।

(Visited 21 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *