पूर्णिया: स्पीड कंट्राेल डिवाइस लगाने के बाद ही मिलेगा गाड़ी का फिटनेस सर्टिफिकेट

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  सड़कों पर वाहनों की बेलगाम गति पर शिकंजा कसने की तैयारी पूरी हो चुकी है। इसके लिए परिवहन विभाग अब सभी पुराने बड़े व्यवसायिक वाहनों में गति नियंत्रक डिवाइस लगाएगा। नए वाहनों में पहले से ही अब उक्त डिवाइस इंस्टाल किया रहेगा। इससे रफ्तार के सौदागरों की गति नियंत्रित करने में काफी सहुलियत हो जाएगी। रफ्तार नियंत्रण में रहने से रोड ट्रैफिक एक्सीडेंट भी कमी आएगी। परिवहन विभाग के प्रधान सचिव ने उक्त आशय का निर्देश सभी जिला परिवहन पदाधिकारियों को जारी किया है। जारी निर्देश में यह भी उल्लेख किया गया है कि डिवाइस नहीं लगाने वाले पुराने वाहनों का परिचालन बंद करा दिया जाएगा। जिले में परिचालित हो रहे करीब 11 हजार वाहनों का फिटनेस स्पीड डिवाइस लगाने के बाद ही निर्गत होगा। डीटीओ ने कहा कि जिले में जल्द ही नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी।

जिले में निबंधित हैं करीब 11 हजार बड़े वाहन
जिले में वर्ष 2010-18 तक करीब 11 हजार बड़े वाहनों का निबंधन किया गया है। इन सभी बड़े वाहनों से स्पीड गवर्नर लगाने से भीड़ वाले इलाकों में यातायात व्यवस्था में सुधार होगा। घनी आबादी वाले इलाकों में स्पीड गवर्नर लगे वाहन तेज गति से नहीं चल सकेंगे।

स्पीड कंट्रोल डिवाइस नहीं लगाने पर रद्द होगा लाइसेंस
नए वाहनों में स्पीड गवर्नर डिवाइस लगाने की जिम्मेदारी संबंधित वाहन निर्माता कंपनी को सौंपी गई है। पुराने वाहनों में परिवहन विभाग द्वारा अधिकृत एजेंसी डिवाइस फिट करेगी। वाहन मालिकों को स्वयं ही डिवाइस लगाना होगा। परिवहन विभाग व मोटरयान निरीक्षक इसकी निगरानी करेंगे। जो वाहन मालिक अपने वाहन में स्पीड गवर्नर नहीं लगाएंगे तो उनके रजिस्ट्रेशन को निरस्त कर दिया जाएगा।

क्या है स्पीड कंट्रोल डिवाइस
गति नियंत्रक डिवाइस वाहनों में लगाने से वाहन सड़कों पर निर्धारित स्पीड में ही चल सकेंगे। यदि सड़क खराब है तो वाहन की रफ्तार स्वयं कम हो जाएगी। कोई चाह कर भी वाहनों को सड़क पर तेज गति से नहीं चला सकेगा। यह डिवाइस सड़क पर आगे किसी तरह का अवरोधक होने का भी चालक को संकेत देगा।

स्कूली बसों में भी लगेगी डिवाइस 
सभी स्कूली बसों में गति नियंत्रक डिवाइस लगाने का निर्देश स्कूल प्रशासन को दिया गया है। यदि स्कूली बसों में यह डिवाइस नहीं लगाया गया तो उस बस का परिचालन नहीं होने दिया जाएगा।

गति नियंत्रक डिवाइस लगाना है अनिवार्य
पूर्णिया के जिला परिवहन पदाधिकारी मनोज कुमार शाही ने बताया सभी यात्री बस, ट्रक, डंपर व स्कूली बसों में गति नियंत्रक डिवाइस लगाना है। शीघ्र ही अभियान चला कर डिवाइस लगाई जाएगी। बिना डिवाइस वाले वाहनों का परिचालन बंद कर दिया जाएगा। डिवाइस लगाने वाले वाहनों को ही जिले में फिटनेस प्रमाण पत्र निर्गत किया जाएगा। इसके लिए एजेंसी द्वारा आवेदन दिया गया है और किशनगंज में स्कूल बस संचालकों के साथ बैठक भी की गई है।

Loading...