पूर्णिया में सड़क पर सजती हैं दुकानें और गाड़ियों की होती है पार्किंग

नीरज झा/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार:  शहर में हर रोज यातायात नियमों अवहेलना की जा रही है। खासकर लाइन बाजार के सिक्स लेन सड़क पर ही किया जा रहा है  वाहनों को पार्किग और दुकानें भी सड़कों पर ही सजती है। नतीजा ये होता है कि आए दिन सड़क पर जाम लगती है। जाम के कारण अक्सर लोग परेशान रहते हैं। जिम्मेदार भी ऐसे मामलों को कभी गंभीरता  से नही ले रहे हैं ।
पूर्णिया में सड़क पर ही पार्किंग है
इस अराजकता के लिए यदि स्थानीय पुलिस और परिवहन विभाग जिम्मेदार हैं, तो आम आवाम भी दोषी  है। बस चालक जहां चाहे अपने वाहन को खड़ा कर यात्री को चढ़ा और उतार सकते हैं, तो ऑटो चालक कहीं भी आड़ा-तिरछा कर सवारी को चढाने और उतारने के लिए  ऑटो को खड़ा करना अपना अधिकार समझते हैं।
मुस्कुराइये आप पूर्णिया शहर में हैं। यहां मनमानी पर कोई रोक-टोक नहीं
लग्जरी वाहन मालिक  को सभी प्रकार की छूट है। दो पहिया चालक भी कहां किसी से कम हैं। जैसे चलाएं, जहां चाहे वहां मोड़ दे और जहां इच्छा हुई वहीं खड़ी कर दी। बेचारा आम आदमी किससे हिसाब मांगे और उसकी सुनने वाला ही कौन है।
डीएम और एसपी साहब के वाहन के आगे तो पुलिस की गाड़ी चलती है, लिहाजा उन्हें इन समस्याओं की खबर ही नहीं रहती है। चौक-चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस तो होती है, पर वह भी किसी तरह की कार्रवाई से हिचकते हैं। ऐसे में इन समस्याओं से कैसे छुटकारा मिलेगी, यह कहना  मुश्किल है।
Loading...