पूर्णिया: होली पर नहीं चली स्पेशल ट्रेन, टिकट के लिए मारामारी

कुमार गौरव/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  भले ही पूर्णिया जिला को प्रमंडलीय शहर का तमगा हासिल हो लेकिन ट्रेनों के मामले में आज भी पूर्णियावासियों को अन्य जिलों का ही सहारा लेना पड़ता है। शहरी क्षेत्र के लोग दूर दराज की ट्रेनों पर सवार होने के लिए कटिहार का रूख तो कर लेते हैं। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र मसलन बनमनखी, केनगर, धमदाहा, जानकीनगर, श्रीनगर समेत कई अन्य प्रखंडों के लोगों को ट्रेन पर सवार होने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। उन्हें या तो पूर्णिया आना पड़ता है या फिर सहरसा जंक्शन की ओर रूख करना पड़ता है। पूर्णिया और सहरसा जाने के बाद भी उनकी समस्या का समाधान नहीं होता है बल्कि उन्हें वहां से या तो कटिहार या फिर समस्तीपुर जाना पड़ता है। तब ही उन्हें दूर दराज की ट्रेनें नसीब होती हैं। अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोसी और सीमांचल की बड़ी आबादी को आज भी ट्रेनों पर सवार होने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ती है।

नहीं चली होली स्पेशल ट्रेन
उम्मीद थी कि अबकी बार पूर्णिया जोगबनी रूट में होली स्पेशल ट्रेन दौड़ेगी ताकि कुछ राहत मिले लेकिन ऐसा हो न सका। पूर्णिया जोगबनी रूट से सिर्फ नई दिल्ली के लिए सीमांचल एक्सप्रेस व कोलकाता के लिए चितपुर एक्सप्रेस ट्रेन के सहारे ही लोग अपने गांव तक पहुंच पाएंगे। गत दिनों जीएम मालीगांव के दौरे के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि पूर्णिया जोगबनी रूट के लिए अलग से होली स्पेशल ट्रेन का तोहफा मिलेगा। इस बाबत जेडआरयूसीसी के सदस्यों ने भी मांग पत्र जीएम को सौंपा था लेकिन तमाम उम्मीदों के बावजूद पूर्णियावासियों को कुछ खास नसीब नहीं हुआ।

नहीं मिल रहे कंफर्म टिकट
होली को लेकर लगातार बढ़ रही भीड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सीमांचल एक्सप्रेस में कंफर्म टिकट नहीं मिल रहे हैं। हालांकि आरएसी तो मिल रहे हैं लेकिन इसके लिए भी रेलयात्रियों को मशक्कत करनी पड़ रही है। फिलहाल रेलयात्रियों को आरएसी या फिर तत्काल से ही काम चलाना पड़ेगा। यही हाल चितपुर एक्सप्रेस का भी है। हालांकि इस ट्रेन में स्थिति कुछ अच्छी है और कंफर्म टिकट मिल रही है। चीफ रिजर्वेशन सुप्रिटेंडेंट एसके सिंह कहते हैं कि पूर्णिया जोगबनी रूट की दोनों ट्रेनों में फिलहाल सीटें पूरी तरह से बुक हैं। हालांकि आरएसी की टिकट मिल रही हैं।

Loading...