पूर्णिया:बिजली तार की चपेट में आने से 4 भैंस की मौत 

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:केनगर  प्रखंड के गोकुलपुर पंचायत के वार्ड 11 गोकुलपुर चौक टोला निवासी के 4 मवेशियों की 11 हजार बिजली संचालित तार के गिर जाने से मौत हो गई। घटना के संबंध में बताया जाता है कि मवेशी पालक बिल्लू यादव प्रत्येक रोज की भांति 5 बजे करीब सुबह मवेशी चराने जा रहे थे। रास्ते में ही वार्ड 12 स्थित परसिया रहिका महादलित टोले के बीच सड़क पर अचानक 11 हजार संचालित बिजली तार मवेशी के ऊपर जा गिरा। जिससे 4 भैंस बिजली करंट की चपेट में आ गई और मौके पर ही दम तोड़ दिया।

 

 

मवेशी पालकों द्वारा बताया गया कि तीनों भैंस गर्भवती थी। घटना की सूचना आग की तरह फैल गई। जिससे ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। ग्रामीणों द्वारा कहा जा रहा था कि इस घटना से पूर्व भी चार बार 11 हजार बिजली तार गिर चुका है। जिससे चारों बार कोई हताहत नहीं हुआ। ग्रामीणों द्वारा आरोप लगाया कि विद्युत विभाग कर्मी कभी भी जांच पड़ताल के लिए नहीं आते हैं। जिससे 11 हजार जर्जर तार अकस्मात टूटकर गिरते रहता है।

 

जहां बिजली से बड़ी अनहोनी की आशंका जताई जा रही है। विभाग के उदासीन रवैये से स्थानीय लोगों में आक्रोश का माहौल है और वे सड़क जाम करने की बात पर अड़े थे। वहीं जदयू प्रखंड किसान प्रकोष्ठ अध्यक्ष सुबोध मेहता ने सभी आक्रोशित ग्रामीणों को समझा बुझाकर जाम नहीं करने की बात कही तथा उचित मुआवजे दिलाने का आश्वासन दिया। प्रखंड प्रकोष्ठ अध्यक्ष द्वारा घटना की सूचना केनगर पशुपालन विभाग, केनगर बीडीओ राकेश कुमार ठाकुर, केनगर अंचलाधिकारी रविशंकर सिन्हा, केनगर थाना, विद्युत कनीय अभियंता को सूचना दी गई।

 

वहीं घटना की सूचना पाकर जिला परिषद सदस्य सह जदयू प्रखंड बीस सूत्रीय अध्यक्ष सुनील मेहता, जदयू प्रखंड किसान प्रकोष्ठ अध्यक्ष सुबोध मेहता ने भी घटना पर क्षोभ जताते हुए ढ़ाई लाख मुआवजा मवेशी पालक को दिलाने का आश्वासन दिलाया। इस संबंध में केनगर अंचलाधिकारी रविशंकर सिन्हा ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद अंचल कर्मी द्वारा जांच कराई जाएगी और जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Loading...