पूर्णिया:गौ पालन एवं वर्मी कंपोस्ट कार्यक्रम के समापन पर आरसेटी ने बांटे प्रमाणपत्र

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार:पूर्णिया पूर्व प्रखंड परिसर में संचालित एसबीआई के ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) के प्रशिक्षण केंद्र में शनिवार को गाय पालन एवं वर्मी कंपोस्ट कार्यक्रम के समापन पर एसबीआई आरसेटी के निदेशक सुभाषचंद्र पाठक ने प्रशिक्षुओं के बीच प्रशिक्षण प्रमाण पत्र का वितरण किया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम विगत 10 दिनों से चल रहा था।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुल 35 प्रशिक्षु शामिल हुए। श्री पाठक ने कहा कि स्वरोजगार शुरू करने के लिए आरसेटी ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों में कौशल विकास एवं उद्यमिता विकास का गुण विकसित करती है। जिससे प्रशिक्षु में आत्मविश्वास पैदा हो जाता है और वह अपने स्वरोजगार को करने के लिए सक्षम हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण प्रमाण पत्र प्राप्त प्रशिक्षुओं को स्वरोजगार शुरू करने के लिए आवश्यकता के अनुसार जिले के सभी बैंकों द्वारा ऋण देने में वरीयता दी जाती है।

जरुरतमंद प्रशिक्षु को मुद्रा योजना के तहत बैंकों द्वारा ऋण दिया जा सकता है एवं बिहार सरकार तथा भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न लाभकारी योजनाओं में वरीयता दी जाती है। श्री पाठक ने बताया कि सभी प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र देने के बाद विभिन्न लाभकारी सरकारी योजना के तहत एसबीआई आरसेटी अगले दो साल तक स्वरोजगार शुरू करने में मार्गदर्शन और मदद करेगी।

निदेशक श्री पाठक ने बताया कि एसबीआई आरसेटी द्वारा सभी प्रशिक्षण निशुल्क दिया जाता है। साथ ही प्रशिक्षु को खाने एवं रहने की भी मुफ्त व्यवस्था रहती है। प्रशिक्षण 18 से 45 वर्ष के व्यक्तियों को दिया जाता है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के पश्चात सभी प्रशिक्षु स्वरोजगार करने के लिए सक्षम हो जाते हैं। साथ ही संस्थान के निदेशक सुभाष चंद्र पाठक ने कहा कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए न्यूनतम योग्यता आठवीं पास है।   सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात प्रशिक्षुओं को यह प्रशिक्षण प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है। जो व्यक्ति पूर्णिया जिले के हैं और स्वरोजगार करना चाह रहे हैं वह यहां आकर प्रशिक्षण के पश्चात खुद का स्वरोजगार स्थापित कर सकते हैं। कार्यक्रम के समय संस्थान के संकाय माधवचंद, संतोष कुमार एवं सहायक नीलाभ रंजन मौजूद थे।

(Visited 7 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *