पूर्णिया:अब जेम पोर्टल से नगर निगम सीधे खरीद सकेगी 50 हजार तक कीे सामान

 प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार: नगर निगम में सामानों की खरीददारी के लिए नगर एवं आवास विभाग ने सख्त निर्देश जारी किया है। नगर निगम को आगामी दिनों में जेम पोर्टल के माध्यम से सामानों की खरीददारी करनी होगी। इसके लिए पूर्व में भी विभाग ने निर्देश जारी किया था। लेकिन, प्रशिक्षण व जानकारी के अभाव में अबतक इसके माध्यम से खरीददारी नहीं हो सकी है।

इस संबंध में नगर आयुक्त विजय कुमार सिंह ने बताया कि नगर निगम अब जरूरी सामान की खरीदारी जीईएम प्लेस पोर्टल से कर सकेगी। बिहार वित्त विभाग ने बीते एक अप्रैल को यह विशेष पोर्टल पूरे प्रदेश में लांच किया है। इस पोर्टल से अबतक खरीददारी के लिए ऑर्डर नहीं हो सका है। आमतौर पर 50 हजार से एक लाख तक खरीददारी के लिए विभाग कोटेशन मांगती है।

कोटेशन पहले से तय वेंडर और दुकानदार जमा करते हैं। जिनका रेट कम होता है, सामान की सप्लाई उन्हीं से ली जाती है। वहीं, कभी कभी टेंडर से भी ऐसा किया जाता है। लेकिन, नई व्यवस्था के बाद 50 हजार तक के सामानों के लिए अब न तो कोटेशन भेजने की जरूरत है और न ही टेंडर निकालने की। लेकिन, 50 हजार से अधिक के सामनों के लिए ऑनलाइन बिडिंग करना होगा। विभाग में चर्चा के बाद इस पोर्टल से नियुक्त पदाधिकारी या कर्मी विभाग के खाते से पोर्टल को पेमेंट करेंगे। जिसके बाद सामान की डिलीवरी हो जाएगी।

…ऑनलाइन शॉपिंग के लिए पोर्टल तैयार किया : 

वित्त विभाग ने जेम नाम से ऑनलाइन शॉपिंग के लिए पोर्टल तैयार किया है। जिसका पूरा नाम गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस है। यह केवल सरकारी विभागों के लिए है। जहां सरकारी विभाग के कर्मचारी कार्यालयों के लिए जरूरी सामान की खरीददारी कर सकेंगे। इस पर सारे प्रोडक्ट की ऑनलाइन शॉपिंग की तरह दिखाए जाएंगे। साथ ही, कर्मचारी यहां से जरूरत के हिसाब से सामानों का ऑर्डर व पेमेंट कर सकेंगे। कंपनी सीधा सामान की डिलिवरी विभाग के कार्यालय में करेगी।

…पोर्टल पर 31 हजार प्रोडक्ट मौजूद :

अधिकारी के अनुसार पोर्टल पर 31 हजार से ज्यादा प्रोडक्ट मौजूद हैं। इसके तहत 9400 सेलर भी जुड़ चुके हैं। साथ ही 1300 से ज्यादा सर्विस प्रोवाइडर भी जुड़े हैं। इस नई व्यवस्था के तहत विभागों के काफी पैसों की भी बचत होगी। बिचौलियों, डीलर, सीएनएफ सबका कुछ न कुछ सामान पर कॉस्टिंग होती है। इस पर जेम पोर्टल पर मेन्यूफेक्चरर कंपनी सीधे जुड़ी हुई है। इससे काफी सस्ते सामान मिल जाते हैं। बिचौलियों की भूमिका नहीं होती।

…जल्द शुरू होगा काम : 

नगर आवास एवं विकास विभाग से इस संबंध में सूचना आ चुकी है। उचित जानकारी के अभाव में खरीददारी नहीं की जा सकी है। विभाग से लिंक प्राप्त हो गया है। लेकिन, प्रशिक्षण नहीं दिया गया। प्रशिक्षण देने के बाद खरीददारी शुरू की जाएगी। विभाग का मानना है कि पोर्टल के माध्यम से खरीददारी करना आसान हो जाएगा।

: विजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया। 

Loading...