नगर सरकार : किसके सिर सजेगा ताज, 16 तक है राज… 

कुमार गौरव /पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार: पिछले दो माह की रस्साकसी का शुक्रवार को पटाक्षेप हो गया। हालांकि अभी  पर्दा उठना बाकी है और 16 अगस्त को पर्दा उठने के बाद ही पता चल पाएगा कि नगर सरकार का ऊंट किस करवट बैठा। बहरहाल, बेहद शांतिपूर्ण माहौल में जिला प्रशासन ने नगर सरकार का चुनाव संपन्न करा दिया। 28 जुलाई वाली स्थिति शुक्रवार को देखने को नहीं मिल रही थी। हालांकि समाहरणालय के सभी गेट पर दोनों पक्ष के समर्थक जुटने लगे थे लेकिन प्रशासनिक सख्ती के आगे उनकी नहीं चली और सभी तेज धूप में भटकने के बजाए वापस लौटने में ही भलाई समझे। इसी बीच सुबह ठीक 10:34 बजे मेयर पद की उम्मीदवार सविता देवी व उनके समर्थकों की टोली समाहरणालय के मुख्य द्वार पर पहुंची। जिसके बाद सभी प्रशासनिक पदाधिकारी व पुलिसबल हरकत में आ गए। जांच पड़ताल के बाद सभी 24 वार्ड पार्षदों को गेट के अंदर प्रवेश करने दिया गया। कटिहार डीडीसी अमित पांडेय, डीआईजी सौरव कुमार, डीएम प्रदीप कुमार झा, एसपी विशाल शर्मा की निगरानी में संपन्न हुए इस मेयर चुनाव में दोनों खेमा जीत के प्रति आश्वस्त है। क्योंकि 28 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव के दिन निवर्तमान मेयर विभा कुमारी व उनके समर्थकों के चेहरे पर तनाव स्पष्ट रूप से देखा गया था लेकिन शुक्रवार को सबकुछ बदला बदला था। दोनों खेमे के पार्षद तनावमुक्त व जीत को ले आश्वस्त दिख रहे थे। समाहरणालय परिसर में सुबह से ही गहमागहमी का माहौल देखा गया। जिला समाहरणालय के मतगणना कक्ष तक जाने के क्रम में सविता देवी के समर्थक एकजुट दिखे। इसी बीच ठीक 11.08 बजे निवर्तमान मेयर विभा कुमारी व उनके 22 समर्थक एक साथ समाहरणालय पहुंचे। जिसके बाद जांच की प्रक्रिया पूरी कर सभी पदाधिकारी अपने कार्यों में जुट गए।

…ये पार्षद पहुंचे सविता देवी के साथ : 

मेयर पद की उम्मीदवार सविता देवी के साथ वार्ड नंबर 2 की पार्षद रंजना सहाय, वार्ड नंबर 4 पार्षद मो सोहैल उर्फ मुन्ना, वार्ड नंबर 5 की पार्षद प्रतिमा देवी, वार्ड नंबर 6 के पार्षद अर्जुन सिंह, वार्ड नंबर 9 की पार्षद कामिनी देवी, वार्ड नंबर 11 के पार्षद राणा रंजीत सिंह, वार्ड नंबर 14 की पार्षद नीलम देवी, वार्ड नंबर 15 की पार्षद रेखा देवी, वार्ड नंबर 16 के पार्षद सुशील सिंह, वार्ड नंबर 18 के पार्षद संतोष यादव, वार्ड 23 की पार्षद इंदिरा देवी, वार्ड 27 की पार्षद अंजुम परवीन, वार्ड 28 की पार्षद शबनम आरा, वार्ड 29 की पार्षद मुसर्रत जहां, वार्ड 30 की पार्षद रेणु कुमारी, वार्ड 31 के पार्षद विजय उरांव, वार्ड 32 की पार्षद कनिज रजा, वार्ड 34 के पार्षद मुरारी भगत, वार्ड 39 के पार्षद विलास चौधरी, वार्ड 40 की पार्षद जानकी देवी, वार्ड 43 के पार्षद वजरूल रहमान, वार्ड 44 के पार्षद विश्वजीत सिंह, वार्ड 46 की पार्षद फुलिया देवी का नाम शामिल हैं।

...ये पार्षद पहुंचे विभा कुमारी के साथ : 

मेयर पद की उम्मीदवार विभा कुमारी के साथ वार्ड नंबर 10 की पार्षद किरण देवी, वार्ड नंबर 12 की बिंदा देवी, वार्ड नंबर 08 की पार्षद सुनैना देवी, वार्ड नंबर 20 की पार्षद लीला देवी, वार्ड नंबर 22 की पार्षद सरिता राय, वार्ड नंबर 38 की पार्षद बेली देवी, वार्ड नंबर 26 की पार्षद रिंकू देवी, वार्ड नंबर 25 की पार्षद रीमा दास, वार्ड नंबर 35 की पार्षद नीरा देवी, वार्ड 33 की पार्षद मुर्शिदा खातून, वार्ड नंबर 24 की पार्षद आशा श्रीवास्तव, वार्ड 21 के पार्षद अमित कुमार साह, वार्ड 37 के पार्षद राजीव कुमार, वार्ड 19 के पार्षद कुणाल किशोर, वार्ड 41 के पार्षद अमित कुमार उर्फ डबलू, वार्ड 13 के पार्षद श्रीलाल महतो, वार्ड 07 के पार्षद रमेश पासवान, वार्ड 45 के पार्षद विजय कुमार उरांव, वार्ड 36 के पार्षद पवन ठाकुर, वार्ड 17 के पार्षद अजय कुमार व वार्ड नंबर 01 के पार्षद पंकज यादव का नाम शामिल है।

…मोबाइल ले जाने पर थी रोक : 

समाहरणालय के मुख्य द्वार पर जांच के दौरान उपस्थित प्रशासनिक पदाधिकारियों ने सभी पार्षदों से मोबाइल अंदर नहीं ले जाने की अपील करते रहे। जिसके बाद सभी पार्षदों ने सुरक्षा कारणों से अपना अपना मोबाइल या तो जमा करा दिया या फिर अपने जानकारों को दे दिया। एक एक कर सभी पार्षदों की जांच करने के बाद ही प्रवेश करने की अनुमति दी जा रही थी। हालांकि दोनों खेमे में अपने अपने पार्षदों को एकजुट रहने के लिए इशारेबाजी भी हो रही थी। एक ओर जहां संतोष यादव ने मोर्चा संभाल रखा तो दूसरी ओर खुद मेयर विभा कुमारी व सरिता राय अपने पार्षदों को एकजुट रहने की बात कह रही थी।

…मतदान के बाद स्ट्रांग रूम की ओर उमड़ पड़ी भीड़ :  

मतदान के दौरान पूरे समाहरणालय में सन्नाटा पसरा रहा। मतदान के बाद करीब 03:00 बजे जब डीएम खुद मतपेटी के साथ स्ट्रांग रूम की ओर दोनों खेमों के पार्षदों के साथ बढ़े तो समाहरणालय के अंदर व बाहर के लोग स्ट्रांग रूम की ओर उमड़ पड़े। जिससे कुछ देर के लिए पुलिसबल को बल का प्रयोग करना पड़ा। हालांकि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के कारण कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली लेकिन इसी बीच कयासों का दौर भी तेज हो गया। नगर निगम चौक की अमूमन सभी दुकानों पर मौजूद लोग एक दूसरे से पूछते नजर आ रहे थे कि लगता है मतदान संपन्न हो गया…। अब पता नहीं कौन मेयर बनेगा…। समेत कई अन्य अटकलेंे लगाई जाने लगी। करीब आधे घंटे तक स्ट्रांग रूम में मतपेटी को सीलबंद कराने के बाद जब डीएम बाहर निकले तो उन्होंने मीडिया कर्मियों से रूबरू होते हुए कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग व उच्च न्यायालय के दिशा निर्देश के अनुसार सारी प्रक्रिया पूरी करा दी है। उन्होंने कहा कि मेयर पद के लिए सविता देवी व विभा कुमारी उम्मीदवार है। इस मतदान में सभी 46 पार्षदों ने भाग लिया है।

...किसी ने कहा 29 तो किसी ने 26 पार्षदों ने किया पक्ष में मतदान : 

मतदान के बाद एक ओर जहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पार्षद बाहर निकले वहीं दूसरी ओर सविता देवी के पक्ष में मतदान करने वाले एक पार्षद ने बताया कि नगर में हमारी सरकार बनेगी और कुल 29 पार्षदों ने सविता देवी के पक्ष में मतदान किया है। वहीं दूसरी ओर निवर्तमान मेयर विभा कुमारी के कुछ समर्थकों ने तो जीत की घोषणा तक कर डाली। उनका कहना है कि हमें जितने वार्ड पार्षदों का समर्थन चाहिए था वह मिल चुका है। अब कोई परेशानी वाली बात नहीं है और जीत पक्की है।

Loading...