पूर्णिया: कसबा से श्रीनगर को जोड़ने वाली सड़क वर्षों से जर्जर

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
पूर्णिया/कसबा/बिहार:  कसबा से श्रीनगर प्रखंड से जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली मिर्जाबाड़ी सड़क पर बाढ़ के दिनों एक फीट पानी का बहाव होने व गड्ढा हो जाने से राहगीरों को इन दिनों आवागमन में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार सड़क के पक्कीकरण का कार्य करीब 5 वर्ष पूर्व किया गया था और उस समय सड़क निर्माता डबलू यादव की देखरेख में सड़क का निर्माण हुआ था। इस सड़क निर्माण में लगभग 4 से 5 करोड़ रुपए की लागत आई थी।
बताया जाता है कि कसबा के पूर्व भाजपा विधायक प्रदीप दास ने इस सड़क का उद्घाटन अपने हाथों किया था। लेकिन सड़क निर्माता तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण सड़क जर्जर हो चुकी है। जिस कारण लोगों को हिचकोले खाती सड़क पर आवागमन करने की मजबूरी है। वर्तमान में सड़क पर आवागमन करने वाले राहगीरों को भारी मुश्किल का सामना करना पड़ता है। अगर ससमय सड़क निर्माता द्वारा सड़क की मरम्मती की जाती तो सड़क की यह स्थिति नहीं होती। राहगीरों ने बताया कि सड़क से होकर गुजरना काफी परेशानी से भरा होता है। आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
क्या कहते हैं जिला संघ प्रमुख अध्यक्ष सह कसबा उप प्रमुख ?
उप प्रमुख मो. इरफान ने बताया कि मिर्जाबाड़ी सड़क प्रधानमंत्री सड़क योजनान्तर्गत है। इस सड़क का निर्माण लगभग तीन से चार वर्ष पूर्व किया गया था। दोनों तरफ घर बनने के कारण सड़कों पर बारिश का पानी जमा हो जाता है। पानी बहाव की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण सड़क समय से पूर्व ही ध्वस्त हो गई। जिस कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है। इस सड़क तथा गेरुवा घाट पुल के विषय में कई बार जिला की बैठक में बात रखी गई लेकिन आजतक सरकार या फिर जिलाधिकारी के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।
उप प्रमुख ने कहा कि सड़क निर्माण में सड़क निर्माता का अहम योगदान होता है। निर्माता को इस विषय में कई बार कहा गया। उसके विरुद्ध जिला में शिकायत भी की गई। लेकिन सड़क निर्माता का इस सड़क की ओर ध्यान नहीं जाता है। सबसे बड़ी बात है कि इस तीन से चार वर्षो में सड़क की मरम्मती भी नहीं हुई है। सड़क निर्माण के साथ साथ नाले का भी निर्माण होना था लेकिन ऐसा नहीं हुआ और जलजमाव के कारण सड़क समय से पूर्व ही ध्वस्त हो गई। उन्होंने जिलाधिकारी तथा सूबाई सरकार से सड़क तथा पुल मरम्मती की मांग की है।
Loading...