पूर्णिया:अबकी बार बाढ़ का सामना नही कर पायेगी कसबा का लोहा पुल

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार : अबकी बार आयी बाढ़ तो टूट सकती है कॉलेज चौक लोहा पुल। इस पुल के टूट जाने से लगभग 15 लाख आबादी सहित तारानगर स्थित औषधि भंडार केंद्र से 11 जिले को भेजने वाली दवाई का मुख्य बिंदु भी ठप हो जाएगा। जबकि यह लोहा पुल दो विधानसभा कसबा अमौर को मुख्य रूप से जोड़ती है।

अगर पुल टूटी तो लाखों लोगों का आवागमन पूरी तरह से ठप हो जाएगा। साथ ही अगर 11 जिले को दवाइयों का आयात निर्यात नहीं हुआ तो दवाई के लिए मरीजों की हालत क्या होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि जब वाहन पुल पर चढ़ता है तो पुल हिलने लगता है। जबकि पुल की मरम्मती की गई थी लेकिन विभागीय और जनप्रतिनिधियों ने घालमेल कर पुल की मरम्मती भी गुणवत्तापूर्ण नहीं करवा सके और आज पुल टूटने के कगार पर है। साथ ही कॉलेज से अमौर जाने वाली सड़क की हालत दयनीय बनी हुई है। वाहन समेत राहगीर हिचकोले खाते हैं।

इस सड़क पर रोज दुर्घटना होती रहती है। जिससे प्रशासन व जनप्रतिनिधि बेखबर हैं। पुल के दोनों तरफ का एप्रोच ध्वस्त हो गया है। लगता है कि अबकी बार बाढ़ आई तो लोहा पुल ध्वस्त हो जाएगा और यहां के लोगों के बीच एक बड़ी समस्या उत्पन्न होगी। जिसके जिम्मेदार प्रशासनिक पदाधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधि ही होंगे। कई बार ग्रामीणों द्वारा स्थानीय सांसद व विधायक को इस लोहा पुल एवं सड़क की मरम्मती के बारे कहा गया है लेकिन अाश्वासन के सिवाय कुछ भी हाथ नहीं लगा।

आज यहां के लोग पुल व सड़क के विकास के लिए रोना रो रहे हैं। वहीं कसबा विधायक मो आफाक आलम ने बताया कि सड़क की मरम्मती जल्द कर ली जाएगी और पुल का निर्माण कार्य भी जल्द कराया जाएगा।

(Visited 23 times, 1 visits today)
loading...