पूर्णिया:स्वच्छता सर्वे की रेटिंग में 112 पायदान ऊपर उठा पूर्णिया जंक्शन, पूरे देश में 237 हुई रैंकिंग 

कुमार गौरव/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार: भारतीय रेलवे की स्वच्छता सर्वे 2018 की रैंकिंग में पूर्णिया जंक्शन 112 पायदान ऊपर उठ गया है। एनएफ रेल मंडल कटिहार अंतर्गत पूर्णिया से ऊपर सिर्फ किशनगंज पहले स्थान पर व कटिहार जंक्शन दूसरे स्थान पर है। क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की स्वच्छता रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है।

क्यूसीआई ने चार दिन पहले देशभर के तमाम ए-1 और ए ग्रेड प्राप्त स्टेशनों की स्वच्छता रिपोर्ट जारी की। इसके लिए भारतीय रेलवे ने पूरे देश में 10 हजार से अधिक स्टेशनों को 16 जोन में बांटा। इन स्टेशनों को सात कैटेगरी ए-1, ए, बी, सी, डी, ई व एफ में विभाजित किया गया। जिन स्टेशनों की सालाना आय 50 करोड़ से अधिक है, उनको ए-1 ग्रेड में रखा गया और जिन स्टेशनों की सालना आय छह से 50 करोड़ के बीच है, उनको ए ग्रेड में रखा गया। क्यूसीआई ने देशभर के 16 रेल जोन के कुल 75 ए-1 ग्रेड के स्टेशन व 332 ए ग्रेड के स्टेशनों का सर्वे किया। जहां तीन बिंदुओं पर सर्वे किया गया। पहला पार्किंग, मेन एंट्री एरिया, मेन प्लेटफार्म व वेटिंग हॉल की सफाई।

दूसरा क्यूसीआई टीम के सदस्यों द्वारा पहली नजर में ट्रैक व गंदगी दूर करने के उपायों पर फोकस और तीसरा स्टेशन एरिया, प्लेटफार्म की सफाई व ट्रेनों की सफाई पर पैसेंजर्स फीडबैक लिए गए। जिनके आधार पर ए ग्रेड स्टेशनों की श्रेणी में पूर्णिया जंक्शन को 237 रैंक मिला है। जबकि वर्ष 2017 में पूर्णिया जंक्शन को 349 वां रैंक प्राप्त हुआ था।

…250 यात्रियों से पूछताछ कर लिया फीडबैक : 

रेल मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड की गई रिपोर्ट के मुताबिक क्यूसीआई की टीम ने लगभग 250 यात्रियों से फीडबैक लिया था। यात्रियों ने सफाई, स्वच्छता, बुनियादी सुविधाओं, लाइटिंग, टिकटिंग, सुरक्षा आदि पर खुलकर बात की और अपनी राय भी टीम को दी थी। टीम ने हरेक यात्री का नाम कलमबंद करते हुए उनकी शिकायतों को भी कलमबंद किया। जिसके बाद आई रिपोर्ट के अनुसार एनएफ रेल मंडल कटिहार में साफ सफाई व अन्य यात्री सुविधाओं के मामले में किशनगंज को पहला, कटिहार को दूसरा व पूर्णिया जंक्शन को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।

…बेहद गोपनीय तरीके से हुआ था सर्वे : 

गौरतलब है कि इस साल मई के अंत में क्यूसीआई की तीन सदस्यीय टीम ने पूर्णिया जंक्शन का निरीक्षण किया था। स्वच्छता रैंकिंग के लिए चयनित बिंदुओं के मद्देनजर जंक्शन का जायजा लिया था। टीम के सदस्यों ने सभी जगह का फोटो और यात्रियों से फीडबैक भी लिया था। जिसमें पिछले साल की तुलना में यात्रियों ने ज्यादा अंक दिए थे। टीम की जांच इतनी गोपनीय थी कि स्टेशन प्रबंधन को भी पता नहीं चल सका। सर्वे खत्म होने के बाद एनएफ रेल मंडल कटिहार को क्यूसीआई ने पूरी जानकारी दी थी। बता दें कि 2016 में पहली बार सर्वे कर स्टेशनों की रैंकिंग की गई थी। उस समय आईआरसीटीसी को सर्वे का जिम्मा दिया गया था। 2017 में आईआरसीटीसी से सर्वे का काम लेकर क्यूसीआई को दिया गया था। इसने ए-1 और ए ग्रेड स्टेशनों का सर्वे रिपोर्ट मंत्रालय को सौंपा था।

…संतोषप्रद है रिजल्ट : 

क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया की सर्वे रिपोर्ट में अबकी बार पूर्णिया जंक्शन की रैंकिंग में सुधार हुआ है। पिछले साल जंक्शन को पूरे देश में 349 वां स्थान मिला था जबकि इस वर्ष 237 वां स्थान प्राप्त हुअा है। साफ सफाई व यात्री सुविधाओं को लेकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अलावे स्टेशन पर कई अन्य जरूरतें भी हैं जिसे उच्च पदस्थों के संज्ञान में दिया गया है।

: मुन्ना कुमार, स्टेशन अधीक्षक, पूर्णिया जंक्शन।

Loading...