काजोल और शाहरुख के सहारे हादसों को रोकेगा रेलवे

कुमार गौरव/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  हादसे रोकने के लिए रेलवे स्टेशनों पर जल्द ही फिल्मों और टेलीविजन के डायलॉग से मिलते जुलते स्लोगन सुनाई देंगे। इनके माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाएगा, ताकि बढ़ते हादसों पर रोक लगाई जा सके। इसके लिए भारतीय रेल ने शाहरुख खान और काजोल की सुपरहिट फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ का मशहूर डॉयलॉग ‘जा सिमरन जा…जी ले अपनी जिंदगी…’ का सहारा लिया है। इस फिल्म में सिमरन यानी काजोल चलती ट्रेन के पीछे भागती है और शाहरुख यानी ‘राज’ हाथ बढ़ाकर उनको चलती ट्रेन में खींच लेते हैं। भारतीय रेलवे ने इसी दृश्य से लोगों को जागरूक करने की कोशिश की है। रेलवे ने इस सीन का इस्तेमाल करते हुए लिखा है-‘न सिमरन न…ट्रेन में भागकर नहीं चढ़ना यह जानलेवा हो सकता है…।

लोगों के टीवी सीरियल व फिल्मों के डॉयलाग का आसानी से दिमाग में घर जाने की वजह से इस तरह के स्लोगन तैयार किए जा रहे हैं। यह हू-ब-हू टीवी सीरियल और फिल्मों के डायलॉग से मिलते जुलते होंगे। इससे लोगों को खतरे के बारे में समझाना आसान होगा। क्योंकि, अक्सर ट्रेन में चढ़ने व उतरने के दौरान ही यात्री हादसों के शिकार हो जाते हैं। पिछले कुछ समय से ऐसी घटनाओं में इजाफा हुआ है। इसी को ध्यान में रखकर फिल्मों और टेलीविजन के डायलॉग का स्लोगन के रूप में उपयोग किया जाएगा।

ऐसे होंगे स्लोगन
यात्रीगण कृपया ध्यान दें, चलती ट्रेन में न चढ़ें और न उतरें की जगह जल्द ही न सिमरन न, ट्रेन में भाग कर न चढ़ना, यह जानलेवा हो सकता है…’ जैसे फिल्मी डायलॉग स्टेशनों में सुनाई देंगे। एनएफ रेल मंडल कटिहार ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है और कटिहार समेत न्यू जलपाईगुड़ी जैसे बड़े स्टेशनों पर तो ऐसे डायलॉग सुनने को भी मिल रहे हैं। हालांकि पूर्णिया जंक्शन पर अबतक इसे चालू नहीं किया गया है लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही पूर्णिया जंक्शन के रेलयात्रियों को भी ऐसे फिल्मी डायलॉग सुनने को मिलेंगे।

जीवन है अनमोल
पहल का उद्देश्य लोगों को यह बताना है कि उनका जीवन अनमोल है, इसलिए हड़बड़ाहट में यात्री जान जोखिम में डाल कर चलती ट्रेनों में सवार नहीं हों। इस दौरान छोटी सी गलती से उनकी जान जा सकती है। ऐसे में यात्रियों काे समझना जरूरी है कि चलती ट्रेन में चढ़ना या उतरना जानलेवा हो सकता है। ट्रेन जब प्लेटफार्म पर खड़ी हो तभी चढ़ें या उतरें।

दिशा निर्देश मिलते ही शुरू होगी कवायद
पूर्णिया जंक्शन के स्टेशन अधीक्षक मुन्ना कुमार ने बताया अबतक सिर्फ कटिहार और न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन में ही यह सुविधा दी गई है। जल्द ही पूर्णिया जंक्शन पर भी इस सुविधा को बहाल कर दी जाएगी। फिलहाल रेलयात्रियों को जागरूक करने के लिए नुक्कड़ नाटक का ही सहारा लिया जा रहा है। मंडल कार्यालय से दिशा निर्देश मिलते ही कवायद शुरू कर दी जाएगी।

Loading...