पुर्णिया:सदर अस्पताल में नही मिल रहा पौष्टिक भोजन,मरीज़ हो रहे परेशान

प्रियांशु आनंद/पुर्णिया

पूर्णिया/बिहार : सदर अस्पताल में गुणवत्तापूर्ण भोजन नहीं मिलने से मरीज़ परेशान हो रहे है है।गुरूवार को पूर्णिया सदर अस्पताल में दिन के खाने को लेकर मरीजों ने खाना खाने से इंकार कर दिया। उनका कहना था कि अस्पताल में दिन में दिया जाने वाला भोजन बिल्कुल गंदा होता है। दिन में बना भोजन इतना गंदा होता है कि वह खाना खाकर स्वस्थ व्यक्ति भी बीमार पड़ जाए और वैसा खाना मरीजों को दिया जा रहा है।

सदर अस्पताल में अपनी पत्नी का इलाज कराने आए मो नईम ने बताया कि उसकी पत्नी पिछले एक सप्ताह से सदर अस्पताल में भर्ती है। हर रोज दिन में एेसा खाना दिया जाता है कि वह खाना जैसे परोसा जाता है वैसे ही खाना खाने बैठे सभी मरीज खाना को बस चखकर वापस फेंक देते हैं। ऐसा खाना खाकर स्वस्थ व्यक्ति भी बीमार पड़ जाएगा। इसके अलावे उन्होंने बताया कि दिन के खाने को लेकर वे कई बार अस्पताल प्रबंधक से इसकी शिकायत भी कर चुके हैं लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।

डायटिशियनकी नियुक्ति नहीं होने से हो रही परेशानी 

सदर अस्पताल पूर्णिया में डायटिशियन की नियुक्ति नहीं होने से मरीजों को गुणवत्तापूर्ण व पौष्टिक आहार नहीं मिल पा रहा है। नियमानुसार सदर अस्पताल में मरीजों को मिलने वाले भोजन की जांच के लिए डायटिशियन आवश्यक है। डायटिशियन ही यह तय कर सकता है कि मरीजों के लिए कौन कौन सा आहार आवश्यक है और कौन सा आहार नुकसानदेह हो सकता है। लेकिन जिले के सबसे बड़े अस्पताल में डायटिशियन का पद नहीं होने से विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित मरीजों को एक समान खाना दिया जा रहा है।

व्यवस्था के अनुसार चिकित्सीय सलाह के बाद मरीजों के लिए भोजन तैयार किया जाना चाहिए। खाना क्या बन रहा है, कैसे बनाया जा रहा है, रसोई की साफ सफाई से लेकर खाना परोसने के तरीकों पर नजर रखने के लिए डायटिशियन जवाबदेह होता है। योजना के मुताबिक भर्ती मरीजों काे प्रतिदिन सुबह के नाश्ते के साथ साथ दोपहर व शाम का खाना आउटसोर्सिंग द्वारा परोसा जाता है। अलग अलग मर्ज वाले मरीजों को एक ही तरह का खाना परोसा जाता है। खाने की किस चीज से किस मरीज को क्या फायदा या क्या नुकसान हो सकता है इसके लिए डायटिशियन नहीं होने से मरीजों को भोजन परोसने की व्यवस्था अाउटर्सोसिंग के मन मुताबिक बगैर किसी जांच पड़ताल के चल रही है।

पूर्णिया सदर अस्पताल प्रबंधक शिम्पी चौधरी का कहना है किपूर्णिया सदर अस्पताल में डायटिशियन की नियुक्ति नहीं है। जहां तक मरीजों के भोजन की बात है उनके खाने का विशेष ध्यान रखा जाता है।

Loading...