पुर्णिया: सब्सिडी युक्त ऋण आवास योजना में 3 से 18 लाख रूपए तक का मिलेगा लोन

प्रियांशु आनंद/पुर्णिया
पुर्णिया/बिहार:  शहरी क्षेत्र के वैसे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर, निम्न व मध्यम आय वर्ग के हैं उनके लिए घर बनाना अब आसान होने जा रहा है। ऐसे लोग अब सस्ते ब्याज दर पर ऋण प्राप्त कर खुद के घर का सपना साकार कर सकते हैं। लाभुक वर्ग को खुद का मकान बनाने के लिए ऋण प्राप्त करने पर भारी सब्सिडी मिलेगी। ऋण चुकाने के लिए लाभुकों को 15 वर्षों का लंबा समय दिया जा रहा है। शहरी क्षेत्र के घर विहीन व झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले गरीबों के लिए निशुल्क आवास देने की योजना चल रही है। वहीं आर्थिक रूप से कमजोर, निम्न व मध्यम आय वर्ग के लोग जिनके पास खुद का मकान नहीं है, वे सब्सिडी युक्त ऋण आवास योजना का लाभ लेकर पक्का मकान बना सकते हैं। इन स्कीमों को लेकर मेयर विभा कुमारी कहती हैं कि शहरी क्षेत्र के हर तबके के लोगों को आवास योजना का लाभ मिले, इसके लिए जल्द ही बैंक पदाधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी।
लाभुकों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है
इस योजना के तहत लाभुकों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है। जिसमें आर्थिक रूप से कमजोर को 02 लाख रूपए, लो इनकम ग्रुप को अधिकतम 06 लाख रूपए और मीडियम इनकम ग्रुप को अधिकतम 18 लाख रूपए आवास ऋण के तौर पर राशि दी जाएगी। लाभुकों का चयन चिन्हित बैंक द्वारा वैरिफिकेशन के बाद किया जाएगा। नगर निगम कर्मी डाबर हुसैन कहते हैं कि 2015 से शुरू हुई योजना के तहत वैसे लाभुक जो पूर्व में लोन ले चुके हैं और 2022 तक लोन लेने वाले लाभुक को स्वत: प्रधानमंत्री आवास योजना में समाहित कर दिया जाएगा। इस योजना के तहत 6.5 फीसदी सब्सिडी दिए जाने का प्रावधान है। जिसमें 06 लाख तक ऋण लिए जाने पर 2.19 लाख रूपए सब्सिडी दिया जाएगा। इसके लिए बैंक में पासबुक, आधार कार्ड, जमीन के कागजात, नगर निगम से नक्शा पास, होल्डिंग रसीद समेत अन्य कागजात जरूरी होता है।
लाभुकों को चार स्कीमों का मिलेगा फायदा
आवास योजना के तहत लाभुकों को लाभार्थी आधारित व्यक्तिगत आवास, भागीदारी में किफायती आवास, क्रेडिट से जुड़़ी सब्सिडी के माध्यम से किफायती आवास और स्लम एरिया के लिए स्व स्थाने स्लम पुनर्विकास आवास स्कीम का लाभ मिलेगा। नगर निगम द्वारा अबतक लाभार्थी आधारित व्यक्तिगत आवास स्कीम के तहत 4561 लाभुकों का लिस्ट तैयार किया गया है और इस वित्तीय वर्ष में 14 हजार 500 अतिरिक्त लाभुकों की सूची तैयार कर डीपीआर पटना भेजा जाएगा। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद लाभुकों को आवास योजना का लाभ मिलेगा।  वहीं भागीदारी में किफायती आवास योजना के तहत अबतक नगर निगम द्वारा 8000 लाभुकों की सूची तैयार की गई है। इस स्कीम के तहत वैसे लोग जिनके पास जमीन नहीं है और वे सरकारी या फिर खासमहल जमीन पर रह रहे हैं। उनके लिए मल्टी स्टोरी बिल्डिंग तैयार कर बसाया जाएगा। उपरोक्त श्रेणी के लाभुक अपना ऋण आवेदन सीधे अपने बैंक अथवा हाउसिंग फाइनेंस कंपनी को भी आवेदन कर सकते हैं।
कौन हो सकते हैं इस योजना के पात्र
लाभार्थी परिवार में पति पत्नी और अविवाहित पुत्र पुत्रियां हो सकते हैं। ऋण के लिए आवेदन करने वाले परिवार को देश के किसी भाग में खुद का पक्का मकान नहीं होना चाहिए। यह सूचना छुपाते हैं तो सब्सिडी की रकम वसूल करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। विवाहित जोड़े के मामले में पति पत्नी अथवा संयुक्त रूप से स्कीम के पात्र हो सकते हैं।
Loading...