पूर्णिया:कर्मियों के अभाव में लटकी एलईडी लाइट लगाने की योजना 

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार : शहर की गलियों को एलईडी लाइट से रौशन करने की योजना फिलहाल अधर में लटकी है। इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए पिछले सप्ताह सर्वे का काम तो जरूर शुरू किया गया लेकिन कर्मियों के अभाव में सर्वे का पहले चरण का ही काम रूका पड़ा है। जिसके बाद कार्य को आगे नहीं बढ़ाया जा सका है।

इस संबंध में इनर्जी इफिसियेंसी सर्विसेज लिमिटेड के ससटेनेबल डेवलपमेंट अफसर चंद्रशेखर कहते हैं कि कर्मियों के अभाव के कारण फिलहाल सर्वे का काम रोका गया है। इसके लिए पटना स्थित मुख्यालय से मैन पॉवर की बहाली को ले आवेदन भेजा गया है। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद सर्वे काम पूरा कर लिया जाएगा।

बता दें कि शहरी क्षेत्र के सभी 46 वार्डों की गलियों में एलईडी लाइट लगाए जाने की योजना है। जिसे हर हाल में जुलाई माह में इंस्टॉल किए जाने की सहमति कंपनी के पदाधिकारियों के द्वारा दी गई है। लेकिन कर्मियों के अभाव के कारण फिलवक्त कार्य रूका पड़ा है।

…दो चरणों में पूरा करना है कार्य :

शहरी क्षेत्र की गलियों में एलईडी लाइट लगाए जाने की योजना दो चरणों में पूरा किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए बाकायदा तीन दिनों तक कार्य भी चला लेकिन कर्मियों के अभाव के कारण इस सर्वे को रोक दिया गया है।

बता दें कि पहले चरण में शहर के सभी बिजली खंभों को चिन्हित कर मार्किंग किया जाना था और दूसरे चरण में शहर की मुख्य सड़कों पर कहां कहां वैपर लाइट लगी है उसे चिन्हित किए जाने की योजना है। ताकि उन जगहों पर वैपर लाइट काे हटाकर एलईडी लाइट लगाई जा सके। कंपनी के द्वारा 15 जुलाई से शहर में लाइट लगाए जाने की बात कही गई थी लेकिन कर्मियों के अभाव के कारण पहले चरण का ही काम पूरा नहीं हो पाया है।

…सात वर्षों में किया जाएगा भुगतान : 

नगर निगम और इनर्जी इफिसियेंसी सर्विसेज लिमिटेड के बीच हुए करार के तहत लाइट लगाए जाने के बाद निगम द्वारा कंपनी को सात वर्षों के अंतराल में राशि का भुगतान किया जाना है। मजेदार बात यह कि नगर निगम द्वारा 22 लाख रूपए बतौर बिजली बिल की राशि जमा की जाती है और एलईडी लाइट लगने के बाद जो 40 फीसदी बिल की राशि की बचत होगी उसी राशि को कंपनी को सात वर्षों तक लौटाया जाएगा। ताकि नगर निगम के कोष पर कोई अतिरिक्त बोझ न पड़े।

बहाली प्रक्रिया हो चुकी है पूरी : 

पूर्णिया में सर्वे का काम जल्द ही दोबारा शुरू किया जाएगा। कर्मियों के अभाव के कारण काम रूका था लेकिन उच्च पदस्थों के आदेश के बाद बहाली प्रक्रिया पूरी कर ली गई है और आज चार सदस्यीय टीम को पूर्णिया भेजा जाएगा। जिसके बाद तीव्र गति से सर्वे का काम पूरा कर लिया जाएगा।

: चंद्रशेखर, ससटेनेबल डेवलपमेंट अफसर, इनर्जी इफिसियेंसी सर्विसेज लिमिटेड।

Loading...