पूर्णिया:अब उर्वरक की खरीद पर किसानों को मिलेगा एक्सीडेंटल बीमा का लाभ 

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार: जिले के किसानों को अब नकली खाद से राहत मिलने की उम्मीद है। ईफको व बिस्कोमान के संयुक्त प्रयास से जिले के किसानों को बेहतर उर्वरक मुहैया कराया जा रहा है। इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं और खाद तो खाद बीमा भी साथ योजना के साथ बिस्कोमान व ईफको किसानों को उर्वरक खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

द डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड के अध्यक्ष हीरा प्रसाद सिंह कहते हैं कि किसानों के द्वारा बिस्कोमान से उर्वरक की खरीद पर प्रति बोरा 4000 रूपए व 25 बोरा या अधिक लेने पर 1 लाख रूपए तक एक्सीडेंटल इंश्योरेंस का लाभ दिया जा रहा है। जिससे किसान बेहद उत्साहित हैं और ढ़ाई से तीन करोड़ रूपए के उर्वरक प्रतिदिन बिक रहे हैं।

उन्होंने बताया कि उर्वरक की खरीद पर किसानों को जहां क्वालिटी एश्योरेंस की सुविधा मिलती है वहीं एक्सीडेंटल इंश्योरेंस का भी लाभ मिलता है। यह सुविधा अन्य निजी कंपनियों के द्वारा नहीं दी जाती है और पिछले वर्ष भी बड़ी संख्या में किसान नकली उर्वरक खरीदकर ठगे जा चुके हैं। श्री सिंह ने बताया कि धमदाहा अनुमंडल में बेहतर रिस्पांस मिल रहा है।

…जिले में चार यूनिट पर हो रही बिक्री : 

जिले के किसानों को बेहतर उर्वरक मुहैया कराने के मकसद से को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से धमदाहा, बनमनखी, भवानीपुर व बीकोठी में यूनिट खोले गए हैं। जहां से बड़ी संख्या में किसान उर्वरक की खरीदारी कर रहे हैं। इसके अलावा किशनगंज जिले के पोठिया, बहादुरगंज व ठाकुरगंज जबकि अररिया के कालियागंज व भरगामा में भी यूनिट खोली गई है। इन जगहों से उर्वरक की खरीदारी स्वाइप मशीन के जरिये ही की जा रही है और किसानों के खाते में अनुदान की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की जा रही है।

बता दें कि बिस्कोमान की इन यूनिटों पर किसानों को नीम कोटेड यूरिया 266.50 रूपए, डीएपी 1200 व 1290 रूपए प्रति 50 किलो, एनपीके 1140 रूपए प्रति 50 किलो व एपीएस 930 रूपए प्रति 50 किलो की दर से उपलब्ध है। अध्यक्ष ने बताया कि उच्च पदस्थों के सख्त दिशा निर्देश के बाद उर्वरकों की खरीद बिक्री में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं बरती जा रही है और किसानों को उर्वरक बैग प्रिंटेड रेट पर ही उपलब्ध कराया जा रहा है।

…प्रिंट रेट से अधिक रूपए लेने वालों पर होगी कार्रवाई : 

किसानों की सहुलियत के लिए बिस्कोमान लगातार प्रयास कर रहा है। उन्हें कम कीमत पर उर्वरक की प्राप्ति हो सके इसके लिए प्रिंटेड रेट पर ही उर्वरक उपलब्ध कराने का सख्त निर्देश जारी किया गया है। यदि प्रिंट रेट से अधिक की वसूली किए जाने की शिकायत मिलेगी तो बेशक कड़ी कार्रवाई की जाएगी और शिकायतकर्ता को 2000 रूपए का इनाम भी दिया जाएगा।

: डॉ सुनील कुमार सिंह, अध्यक्ष, बिस्कोमान। 

Loading...