पूर्णिया: बगैर डॉक्टर की पर्ची के कफ सीरप बेचने वालों पर कार्रवाई की मांग

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/धमदाहा/बिहार:  इन दिनों धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय स्थित दवा दुकानदारों के द्वारा चोरी छिपे कफ सीरप बेचे जाने का मामला प्रकाश में आया है। सूत्रों की माने तो बिहार सरकार ने जब से शराबबंदी कानून लागू किया है तब से अनुमंडल क्षेत्र में नशेड़ियों के द्वारा कफ सीरप को इस्तेमाल में लाया जा रहा है। नशेड़ी कफ सीरप से अपने नशे की प्यास बुझाते है।वहीं अनुमंडल मुख्यालय के दवा दुकानदार भी बिना पुर्जे के ही ग्राहकों को कफ सीरप देने में परहेज नहीं करते हैं।

मिली जानकारी के अनुसार धमदाहा बाजार में बनमनखी रोड एवं अमारी कुकरौन चौक पर स्थित कुछ मेडिकल स्टोर पर सुबह और शाम सिर्फ कफ सीरप की बोतल के लिए ही नशेड़ियों की भीड़ लगी रहती है। दुकानदार पुर्जा मांगना तो दूर पुर्जे के बारे में पूछते भी नहीं और आंख बंद कर सीरप बेचते हैं। मामले में प्रशासन की उदासीनता को देखते हुए भाजपा के शिष्टमंडल ने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है।

मेडिकल स्टोर द्वारा अवैध रूप से बेचे जा रहे कफ सीरप का विरोध करते हुए बीजेपी के किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सुनील सिंह, धमदाहा मंडल अध्यक्ष कुमार राघवेंद्र उर्फ बोनी सिंह, ज्ञानेंदू सिंह उर्फ झुन्नू सिंह एवं मुन्ना सिंह, धीरेंद्र झा, अशोक साह सोमवार को अनुमंडल पदाधिकारी पवन कुमार मंडल से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा और क्षेत्र के दवा दुकानदारों पर नकेल कसने की अपील की।

Loading...