पूर्णिया: गर्म माहौल के बीच छात्र संघ चुनाव संपन्न, कसबा में छात्रों में झड़प

कुमार गौरव/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  पिछले एक माह से छात्र संघ चुनाव को लेकर चल रहे उठा पटक का दौर समाप्त हो चुका है। सोमवार को पूर्णिया समेत आसपास के जिलों में हुए छात्र संघ चुनाव के बाद जहां माहौल शांत हो चुका है वहीं दूसरी ओर परिणाम आने का इंतजार हर किसी की धड़कनें तेज करने लगा। इसी क्रम में बता दें कि कसबा में मतगणना को लेकर जाप और बीजेपी समर्थक एक दूसरे से उलझ गए। हालांकि इस दौरान कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है लेकिन मतगणना में गड़बड़ी की आशंका को लेकर दोनों खेमों में हो हंगामा शुरू हाे गया।

बाद में प्रशासनिक पदाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद माहौल शांत हुआ। बता दें कि एमएल आर्य कॉलेज में मंगलवार को छात्र संघ चुनाव के मतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था काफी चुस्त दिखी। मतदान शुरू होने से पूर्व ही मुख्य द्वार पर पुलिस पदाधिकारी व महिला व पुरुष पुलिस जवान तैनात हो गए थे। किसी को अंदर जाने की अनुमति नहीं थी। पुलिस पदाधिकारियों द्वारा गेट को बंद कर दिया गया था। कॉलेज प्रशासन द्वारा मतदान प्रक्रिया शुरू कराने की अनुमति मिलने पर गेट से सिर्फ उसी को अंदर जाने दिया गया जो परिचय पत्र दिखा रहा था। सुरक्षा कर्मियों द्वारा प्रवेश करने वाले हर छात्र छात्राओं के परिचय पत्र की जांच की जा रही थी।

इसके अलावा कॉलेज के अंदर बूथ पर जाने वाले छात्र छात्राओं को भी इधर उधर नहीं बल्कि कतारबद्ध कराने में कॉलेज कर्मियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। कॉलेज कर्मियों की तत्परता से किसी भी मतदाता को कोई परेशानी नहीं हुई। मंगलवार को शांतिपूर्वक मतदान संपन्न होने के बाद कॉलेज प्रशासन मतगणना की तैयारी में जुट गए। सभी मतपेटियों को सील कर स्ट्रांग रूम में रखा गया है। जैसे ही मतगणना कार्य मे अधिकारी जुटे ही थे कि छात्र संगठन ने इस बात को लेकर विवाद उत्पन्न कर दिया कि मतदाता को मतदान कक्ष में चुनाव आयोग के निर्देश के आलोक में बैगनी कलर से क्रॉस कर मतदान करना था कि लेकिन मतदाता अपने ही कलम से क्रॉस चिन्ह लगा दिया।

इस बात को लेकर कॉलेज परिसर में विवाद होना शुरू हो गया। जाप और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में तानातनी हो गई। एक दूसरे पक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। इस बात को लेकर मतगणना कार्य घंटों बाधित रहा। हंगामा कर रहे कार्यकर्ता का कहना था कि बिना बैगनी कलर से जो भी वोटिंग की गई है वह वैध नहीं अवैध है पुनः मतदान करवाया जाए। हंगामा कर रहे छात्र को शांत करने में सीओ अमर कुमार वर्मा, थानाध्यक्ष अरविंद कुमार, विश्वविद्यालय पर्यवेक्षक एसके सुमन लगे हुए थे।

वहीं दूसरी ओर पूर्णिया कॉलेज में भी दिनभर शांत माहौल में मतदान संपन्न हुआ। हालांकि हरेक दल के छात्र नेता अपने पक्ष में मतदान करने को युवाओं को रिझाते रहे। मतदान के शुरूआत में जाप का ही पलड़ा भारी रहा लेकिन देर शाम तक चले मतदान में कौन किसके पक्ष में मतदान कर रहा है की जानकारी इकट्‌ठा करना थोड़ी मुश्किलें जरूर पैदा कर रही थी। खबर लिखे जाने तक मतगणना की रिपोर्ट सामने नहीं आई थी।

Loading...