पूर्णिया शौचालय घोटाला में जमकर हुई वसूली, कागजों पर बने 185 शौचालय

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

केनगर,पूर्णिया/बिहार:  केनगर प्रखंड क्षेत्र के बिठनौली पूरब पंचायत के वार्ड नंबर 01 महादलित टोला शिशवा में लगभग 185 शौचालय का निर्माण कराया गया था। लेकिन धरातल पर एक भी शौचालय का निर्माण कार्य पूरा नहीं किया गया है। इस मामले को लेकर जब पड़ताल की गई तो  सभी शौचालय आधा अधूरा मिला। एक भी शौचालय पूर्ण रूपेन नहीं बना था। जब वहां के ग्रामीणों से पूछा गया तो ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय को लेकर प्रखंड समन्वयक लक्ष्मी कुमारी के भाई जेपी कुमार और उसके साथ एक महिला जिसका नाम रूबी कुमारी द्वारा शौचालय को पूरा कराने के नाम पर 1500 रूपए की मांग की गई।

सरकारी पैसे से शौचालय निर्माण के बदले मांगे 15000 रिश्वत

जिसमें कुछ लोगों ने रूपए दिए और उनके द्वारा फोटो लिया गया। फोटो लेने के बाद लक्ष्मी कुमारी के भाई जेपी कुमार आजतक इस इलाके में नजर नहीं आए। बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा छह माह पूर्व इस वार्ड को खुले में शौच को लेकर ओडीएफ घोषित किया जा चुका है। लेकिन एक भी घर में शौचालय नहीं होने के कारण इस इलाके के लोग खुले में शौच करने को विवश हैं। इस वार्ड की बीबी रोशन आरा ने बताया कि हमारा काला कार्ड भी बना है और शौचालय बनवाने को लेकर वार्ड सदस्य बेचन ऋषि द्वारा हमारे घर में दो बोरा सीमेंट और दस टीन बालू भी गिरा चुके हैं। दरवाजे पर रखा सीमेंट पत्थर हो गया है और बालू भी बर्बाद हो गया है। दोबारा वार्ड सदस्य हमारे यहां आए तक नहीं।

 

केनगर प्रखंड क्षेत्र के बिठनौली पूरब पंचायत के वार्ड नंबर 01 महादलित टोला शिशवा में इस तरह से बनाए गए शौचालय

वहां के लाभुक सहदेव ऋषि, राजकुमार ऋषि, गोरेलाल ऋषि और झबडू ऋषि ने बताया कि जब हमलोग मुखिया और वार्ड सदस्य को बोलने जाते हैं तो वे लोग कहते हैं धैर्य रखिए आपलोगों का शौचालय जल्द से जल्द बना दिया जाएगा। इनलोगों ने बताया कि हमलोग जब इस मामले को लेकर पूर्व बीडीओ मनीष कुमार सिंह से मिले तो उन्होंने जांच कराने का आश्वासन दिया था। लेकिन आजतक कोई पदाधिकारी या फिर जांच एजेंसी नहीं पहुंची। इनलोगों के द्वारा ही बताया गया कि यह सभी शौचालय चंदन यादव नामक ठेकेदार के माध्यम से बनाया गया था।

शौचालय निर्माण के नाम पर जमकर हुई लूट

जिसमें पूर्व बीडीओ मनीष कुमार सिंह, मुखिया साधना राज,प्रखंड समन्वयक लक्ष्मी कुमारी के भाई जेपी और वार्ड सदस्य बेचन ऋषि की मिलीभगत से गरीबों का सारा रूपया गबन कर लिया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लक्ष्मी कुमारी के भाई जेपी कुमार और उसके साथ मौजूद महिला रूबी कुमारी द्वारा अवैध उगाही की जाती है। जेपी द्वारा रूबी कुमारी को लक्ष्मी कुमारी प्रखंड समन्वयक बताकर रूपए की उगाही की जाती है और लक्ष्मी कुमारी की जगह जेपी कुमार ही प्रखंड समन्वयक बन गया है। बहन की जगह शौचालय का काम करवा रहा है। लक्ष्मी कुमारी से मिलने को ग्रामीण तरसते रहते हैं लेकिन उनका दर्शन दुर्लभ है और प्रखंड कार्यालय में भी वे नहीं आती हैं। ग्रामीणों का कहना है कि प्रखंड समन्वयक लक्ष्मी कुमारी बस बैठक में ही नजर आती हैं।
दोषियों के खिलाफ होगी जांच
पूर्णिया के इस शौचालय घोटाले पर जिलाधिकारी प्रदीप कुमार झा ने कहा इस मामले की जानकारी नहीं है। यदि शौचालय निर्माण में घपला किया गया है और शौचालय का निर्माण नहीं हुआ है तो बेशक जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Loading...