कुर्सेला के पास रेलवे पुल के नीचे मिला भोलू का शव

कुर्सेला के पास रेलवे पुल के नीचे मिला भोलू का शव

नीरज झा/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार:  मरंगा थाना क्षेत्र के शांति नगर निवासी भोलू कुमार के घर में मंगलवार को माहौल गमगीन रहा । बता दें 14 जनवरी की रात दोस्तों के साथ पार्टी मनाने के दौरान भोलू के दोस्त ने ही गोली मार कर उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस के मुताबिक शव को स्विफ्ट डिजायर कार से रात के ढाई बजे कुर्सेला स्थित कोसी नदी पूल में बहा दिया गया था।  पुलिस गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर उसके दोस्तों से पूछताछ कर ही रही थी। इसी बीच पुलिस को भनक लगी कि भोलू ने अपने दोस्तों के साथ 14 जनवरी की रात बुश नाम के एक बैंक कर्मी के घर पर अपने आठ दोस्तों के साथ पार्टी मनाया था। पुलिस को यहीं से हत्या की गुत्थी को सुलझाने की लीड मिली और हत्या की गुत्थी सुलझती चली गई। लोगों में चर्चा ये भी है कि भोलू शराब और जमीन के धंधे से भी जुड़ा हुआ था हो सकता है ये भी उसकी हत्या की वजह हो।
रेलवे पुल में फंसा था भोलू का शव
मरंगा थाना की पुलिस को, किसने और क्यों भोलू को गोली मारी, इस बात का तो पता चल गया लेकिन उन्हें शव की बरामदगी करने काफी मशक्कत करनी पड़ी। चूंकि शव को ठिकाने लगाने वाले लगतार शव को फेंकने की जगह तो बता रहे थे लेकिन आस पास के क्षेत्रों में पुलिस के काफी खोजने के बाद भी शव का पता नहीं चल पा रहा था। पुलिस गिरफ्तार उसके दोस्तों को कई बार कुर्सेला पूल पर लेकर गई थी लेकिन शव नहीं मिल पा रहा था।  पुलिस को ऐसी भी आशंका हो रही थी कि 21 दिन में शव सड़ गल भी गया होगा। इस कारण भी  नहीं मिल रहा है या कोसी नदी का तेज बहाव के कारण शव काफी दूर चला गया होगा।  मंगलवार को जब पुलिस कुर्सेला पुल के पास शव को खोज रही थी, उसी वक्त किसी ने जानकारी दी कि कुछ दूर पर रेलवे का पुल बन रहा है हो सकता है वहां पर शव मिले। पुलिस ने खोजबीन शुरू की तो रेलवे पुल पर ही भोलू का शव फंसा हुआ था।
किशनगंज कनेक्शन को जांच रही है पुलिस
भोलू अक्सर पार्टी मनाने के लिए किशनगज अपने दोस्तों के साथ जाता था।  यही कारण है कि भोलू के गायब होने के बाद उनके एक दोस्त जो सरकारी नौकरी में है उनसे भी पूछताछ की गई थी।  सूत्रों की मानें दोस्तों के बीच एक युवती भी थी जिससे सभी दोस्त अक्सर मिला भी करते थे । हालांकि भोलू और उनके एक दोस्त जो जमीन का धंधा करता था के बीच युवती को लेकर कई बार तूतू मैंमैं भी हुआ था । कहा तो यह भी जा रहा था जिस हत्या के दिन पार्टी मनाने के दौरान शराब और शबाब जमकर चला था।  भोलू की हत्या होने के बाद मौके पर मौजूद युवती को सुरक्षित जगह पहुचाने और देख रेख करने का जिम्मा कुछ दोस्तों ने ही मिल कर संभाला था ।
Loading...