पूर्णिया: बीकोठी में कन्या विवाह के 2506 मामले लंबित, नीतीश जी योजना का क्या हुआ?

नितीश झा/पूर्णिया

पूर्णिया/बीकोठी/ बिहार:  बिहार सरकार के द्वारा कन्या विवाह की राशि देने की घोषणा तो कर दी गई। लेकिन सरकारी घोषणाओं के बाद भी लाभुकों को इस कल्याणकारी योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जिससे मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना महज दिखावा बनकर रह गई है। कन्या विवाह योजना का लाभ लेने के लिए लाभुक वर्ग कन्या विवाह का फॉर्म तो भरते हैं और आवेदन को जमा करने में लाभुकों को करीब 300 रुपया का खर्चा लगता है। मगर लोग आज पांच वर्षों से लाभ पाने के लिए भटक रहे हैं।

बीकोठी में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है। बता दें कि प्रखंड में यह योजना 2012 से ही विभागीय लापरवाही की भेंट चढ़ चुकी है और दर्जनों लाभुक प्रखंड कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं। बीकोठी में 2012-17 तक कुल 2506 आवेदन प्रखंड कार्यालय की फाइलों में धूल फांक रही है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजनान्तर्गत सभी लाभुक को 5000 रूपए की राशि दी जाती है। इस तरह इस योजना में कुल 1,17,45,000 रुपए विभागीय लापरवाही की भेंट चढ़ चुका है। सरकार घोषणाएं कर लोगों को सब्जबाग तो दिखा रही है वहीं योजनाओं का लाभ आमजनों को नहीं मिल रहा है।

प्रखंड में कितने आए आवेदन
वर्ष 2012 -2013 में कुल 438 आवेदन, वर्ष 2013-14 में कुल 1535, वर्ष 2014 -15 में कुल 376 आवेदन, वर्ष 2015-16 में कुल 15 आवेदन और वर्ष 2016-17 में कुल 42 आवेदन प्राप्त हुए हैं और सारे लंबित पड़े हैं। इस दिशा में सरकारी तौर पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। प्रखंड में 2506 लाभुकों को इस योजना का लाभ दिया जाना है लेकिन विभागीय उदासीनता कुछ ऐसी है कि लाभुक पिछले पांच वर्षों से योजना का लाभ पाने को इंतजार कर रहे हैं।

राशि के अभाव में नहीं किया गया है वितरण
बीकोठी के बीडीओ राजीव कुमार ने कहा प्रखंड के द्वारा पत्र लिखकर कई बार राशि की मांग की गई है लेकिन राशि के अभाव में वितरण कार्य प्रभावित हो रहा है। जब भी राशि आती है तो शिविर लगाकर वितरण किया जाता है। जल्द ही इस दिशा में कार्रवाई की जाएगी और राशि का वितरण किया जाएगा।

Loading...