पूर्णिया:विद्यालय में स्कूली बच्चों व शिक्षकों ने अटल जी को दी श्रद्धांजलि 

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार: भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद घोषित अवकाश के अवसर पर मध्य विद्यालय सिमरिया में दिवगंत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धाजंलि अर्पित की गई।

विद्यालय प्रधानाध्यापक मनीष कुमार राय ने कहा कि हृदय सम्राट वाजपेयी जी एक प्रधानमंत्री ही नहीं बल्कि प्रखर वक्ता, संवेदनशील इंसान, उच्च कोटि के कवि भी थे। उनके जीवनवृत पर प्रकाश डालते हुए उनके शासन काल को याद किया। वे जितने कोमल थे उतने कठोर निर्णय लेने में पीछे नहीं हटते थे।

पोखरण परमाणु विस्फोट हो या कारगिल युद्ध। निर्णायक क्षणों में बगैर किसी की परवाह करते हुए केवल राष्ट्रहित को ध्यान रखा।पाकिस्तान के साथ सबंध सुधारने की दिशा में नई दिल्ली से लाहौर की बस यात्रा की शुरुआत हो या देश में सड़कों का जाल बिछाने के लिए स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के तहत फोरलेन सड़कों का निर्माण।

उन्होंने जो राष्ट्रहित के लिए सोचा उसे किया। उनके प्रखर व्यक्तित्व के चलते उनके विरोधी भी उनकी प्रसंशा करते थे। इसलिए तो उन्हें भारतीय राजनीतिक का अजातशत्रु कहा जाता है। शोक सभा में शिक्षक अरुण कुमार ने भी दिवगंत आत्मा का स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा शिक्षिका रौनक अफरोज, रंजू कुमारी ने श्रद्धाजंलि अर्पित की।

इधर, प्रखंड भाजपा ग्रामीण मंडल के ओर से भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक सभा का आयोजन किया गया। वहीं शोक सभा कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद साह ने की। कार्यक्रम में अटल जी के किए गए कार्यों की सराहना करते हुए दो मिनट का मौन धारण कर तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इस मौके पर नगर भाजपा महामंत्री दिलीप कलाकार सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।

(Visited 53 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *