पूर्णिया: महर्षि मेंही संगम बजरंगबली स्थान में संकीर्तन का समापन

निक्कू झा/पुर्णिया

पुर्णिया/बिहार:  के नगर प्रखंड बहोरा पंचायत के मसूरिया पूर्व वार्ड 18 स्थित महर्षि मेंही संगम बजरंगबली स्थान प्रांगण में आयोजित तीन दिनों के अष्टजाम संकीर्तन का समापन मंगलवार दोपहर को हर्षोल्लास से श्रद्धा भक्ति बीच किया गया । आयोजित कार्यक्रम से पूर्व दो दिवसीय रामचरितमानस पाठ के बाद तीन दिनों के अखंड नाम संकीर्तन के आयोजन में दर्जनों मंडलियों ने भाग लिया। जिसमें बंगाल प्रांत से पधारे मंडलियों में शामिल महिला पुरुष की टीम ने बांसुरी की धुन पर नृत्य करती महिला मंडली अत्यंत मनमोहक रहा।

वहीं स्थानीय युवा कलाकारों ने भगवान के अद्भुत रूप जैसे-जैसे दृश्य रासलीला में कृष्ण जन्म कथा कंस वध का भव्य प्रदर्शन किया। उक्त कार्यक्रम में श्रद्धालु भक्तों की उमङती श्रद्धालु भक्तों की उमड़ी भीड़  में यज्ञ प्रांगण छोटी पड़ गई । भीड़ इतनी ज्यादा थी की के नगर कचहरी बलुवा मुख्य पथ पक्की सड़क वाहन पर सवार वाले लोगों को आवाजाही में घंटों कठिनाई झेलनी पड़ी।

सोमवार की रात्री में हल्की बारिश के बावजूद भी लोग पानी में भींग कर रास लोक नृत्य  से आनंदित होते रहे। मंगलवार दोपहर समदन आरती भजन उपरांत जय बाबा बजरंगबली , जय भोलेनाथ के उद्घोष से त्रिदिवसीय अखण्ड नाम संकीर्तन का समापन किया गया। कार्यक्रम क्षेत्र में भक्ति का माहौल व्याप्त होते देखा गया। श्रद्धालु भक्त भक्ति रस में डुब कर सरोवर होते रहे।  तीन दिवसीय अखंड नाम संकीर्तन के आयोजन में समस्त स्थानीय मसुरिया  ग्राम वासियों का योगदान अहम रहा।

Loading...