पूर्णिया:बिहार बंद को ले अमौर में चक्का जाम व प्रदर्शन

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार: पूर्णिया के अमौर प्रखंड में गुरूवार को राजद कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने मुज्जफरपूर में बालिका आश्रय गृह में 34 नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म के मामले को लेकर चक्का जाम किया और प्रदर्शन किया। विपक्षी पार्टियों के आह्वान पर राजद, कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों द्वारा राज्यव्यापी िबहार बंद का समर्थन किया गया।

राजद कार्यकर्ताओं ने प्रखंड मुख्यालय से गुजरने वाले बायसी रौटा हाइवे मार्ग पर बसों व अन्य वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दिया और यातायात अवरूद्ध कर दिया। जिससे इस मार्ग पर यातायात गंभीर रूप से प्रभावित हुई।

प्रदर्शनकारियों ने नाबालिग लड़कियों के साथ हुई दुष्कर्म की घटना पर रोष प्रकट करते हुए कहा कि यह घटना उस समय सुर्खियों में रही जब बिहार समाज कल्याण विभाग ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोसल साइंसेस (टीआईएसएस) द्वारा किए गए सोसल ऑडिट के आधार पर एक मामला दर्ज कराया। मेडिकल जांच में 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हुई है। पीड़ित बालिकाओं ने कोर्ट को बताया कि उन्हें नशीले पदार्थ दिया जाता था और मारपीट की जाती थी। उसके बाद रेप किया जाता था।

प्रदर्शनकारियों ने घटना की निंदा करते हुए दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग प्रशासन से की है। प्रदर्शनकारियों में राजद के शहनवाज आलम, मिन्नत खान, मुज्जफर आलम, रहीम सागर, सकील, बाबुल, नफीज आलम, समीम, आदिल आदि समेत भारी संख्या में राजद कार्यकर्ता व समर्थक शामिल थे।

Loading...