पूर्णिया:युवाओं में दवा के दुरुपयोग हेतु अंतराष्ट्रीय दिवस पर जागरूकता हेतु कार्यक्रम का आयोजन

प्रियांशु आनंद/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय पूर्णिया की एण्टी ड्रग क्लब एव राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के प्रभारी डा पंकज कुमार यादव प्रयास से युवाओं में दवा के दुरुपयोग हेतु अन्र्तराष्ट्रीय दिवस पर जागरूकता हेतु कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्य डा राजेश कुमार ने किया। उन्होंने अपने संबोधन में बताया कि संयुक्त राष्ट्र आमसभा द्वारा 7 दिसम्बर 1987 को विश्व को नशा मुक्त बनाने हेतु एवं नशीली पदार्थों की अवैध तस्करी को रोकने के लिए 26 जून को दवा के दुरुपयोग हेतु अन्र्तराष्ट्रीय दिवस मनाने का निर्णय लिया गया।

जो प्रत्येक वर्ष विभिन्न विषयों पर आयोजित किया जाता है। वर्ष 2018का विषय है – “पहले सुनो बच्चों ओैर युवाओं को सुनना स्वस्थ एवं सुरक्षित होने में उनकी मदद करने का पहला कदम है“। इस अवसर पर प्राचार्य ने सभी छात्र-छात्राओं को नशामुक्ति हेतु शपथ भी दिलायी कि हम सभी  महाविद्यालय परिसर में किसी भी प्रकार का नशा नहीं करेंगें और साथ ही साथ प्रत्येक  छात्र कम से कम एक व्यक्ति को नशा न करने के लिए जागरुक  करेंगें। व्यक्ति का चयन हम अपने परिवार एवं महाविद्यालय के आसपास ग्रामीण क्षेत्रो से प्रारम्भ करेंगें।

इस अवसर पर प्राचार्य ने कहा कि बदली हई सामाजिक मान्यताएँ, कुछ नया करने की चाहत एवं मानसिक तनाव आदि ऐसे कारण हैं जिसकी वजह से समाज में युवा वर्ग में दवा के दुरुपयोग तेजी से बढ़ा है। छात्र/छात्राओं को नशीले पदार्थों के सेवन के द्वारा होने वाले नुकसान के बारे में बताया कि विश्व में प्रतिवर्ष 60 लाख लोगों की मृत्यु का कारण तम्बाकू है, जिसमें भारत में मरने वालों की संख्या 10 लाख है।

भारत की 35 प्रतिशत आबादी तम्बाकू से प्रभावित है, जिसमें 48 प्रतिशत पुरूष एवं 20 प्रतिशत महिलाएँ शामिल हंै। नशा मुक्त बिहार बनाने हेतु  जागरूकता लाने के लिए माननीय मुख्य मंत्री नीतीश कुमार बिहार सरकार द्वारा मध निषेध अभियान का भी शुरुआत किया गया है। डा0 कुमार नें बताया कि बिहार सरकार राज्य में पूर्ण शराब बंदी का ऐतिहासिक एवं साहसिक फैसला लिया गया जो कि युवा ही नहीं बल्कि पूरे राज्य के लोगों के हित में यह फैसला है, जो स्वागत योग्य है।

इस कार्यक्रम में एण्टी ड्रग क्लब एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डा0 पंकज कुमार यादव  ने छात्रों को बतया कि सिगरेट बुझाओ, सेहत बचाओ, नशा नही, खुशी अपनाओ  की सलाह देते हुए अनुशासन में रहने की बात कही। भारत में 29 प्रतिशत कैंसर होने का कारण तम्बाकू का सेवन है, 16 करोड़ लोग धुआँ रहित तम्बाकू, 24 प्रतिशत लोग चबाने वाला तम्बाकू  का सेवन करते हैं।

डा0 अनिल कुमार प्रभारी पदाधिकारी राष्ट्रीय कैडेट कोर ने छात्र/छात्रा को  बताया कि भारत में प्रति वर्ष तम्बाकू के हानिकारक प्रभाव के कारण प्रतिदिन 5500 बच्चे तम्बाकू की लत के शिकार हो रहे हैं, तम्बाकू के सेवन से मनुष्य की 20 से 22प्रतिशत उम्र कम हो जा रही है।  एण्टी ड्रग क्लब के सदस्य के रूप में कार्यरत हैं छात्र/छात्राएं रीषु, राजकिशोर सुधीर कुमार आशीष एवं  संदिप आदि जो विगत वर्ष से  नशामुक्ति हेतु जागरूकता अभियान में सक्रिय रूप से सम्मिलित हैं। इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक के रूप में महत्वपूर्ण दायित्वों का निर्वहन किया हैं।

इस अवसर पर महाविद्यालय के अन्य वैज्ञानिक डाॅ  जे एन श्रीवास्तव,  डा॰ जे॰ प्रसाद, डाॅ0 पंकज कुमार यादव, डा॰ अनिल कुमार, डाॅ  रवि केसरी, डाॅ तपन गोराई,  श्री जय प्रकाश प्रसाद, डाॅ  रुबि साहा,  आदि ने सक्रिय सहयोग प्रदान किया। महाविद्यालय के छात्र/छात्राओं मुख्य रूप से मंजूषा कुमारी, स्मृति राज, नीशा भारती, पुष्पम जय श्री राज, सोनी, श्रृजल सुमन,एवं छात्रों में रीषु, राजकिशोर सुधीर,, दिवाकर,, सोनु भारती,  शिव शंकर, संदिप, अभिजीत, कमलेश राम, प्रवीण राम, शशीभूषण, आयुश, सलीम मलिक सिद्धीकी, शशीभूण, विवेक, दीपक, रोशन, कुमार आशीष,, पुरुषोत्तम कुमार सिंह एवं  निलाभ सिंह आदि ने उत्साह पूर्वक  सहयोग प्रदान किया। इस कार्यक्रम  का संचालन तथा धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय सेवा योजना ईकाई के पदाधिकारी डा॰ पंकज कुमार यादव ने किया।

(Visited 2 times, 1 visits today)
loading...