पूर्णिया: 10वीं बोर्ड की परीक्षा में कोई छात्र खुश तो कोई परेशान

नीरज झा/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  मैट्रिक परीक्षा के तीसरे दिन परीक्षार्थियों ने विज्ञान विषय की परीक्षा दी। विज्ञान विषय की परीक्षा देकर निकले छात्रों को प्रश्न पत्र को लेकर अलग अलग मत देखने को मिले। कुछ छात्रों को पूछे गए प्रश्न आसान लगे तो कुछ को सवाल हल करने में कठिनाईयां पेश आईं। दरअसल 21 फरवरी से शुरू हुई मैट्रिक परीक्षा के तीसरे दिन दोनों पालियों में विज्ञान विषय की परीक्षा हुई। जिसमें परीक्षा समाप्ति के बाद बाहर निकले कुछ परीक्षार्थी के चहरे पर खुशी थी तो कुछ छात्र थोड़े मायूस दिखे।

वहीं कुछ को समय की पाबंदी ने निराश किया।  शुक्रवार को प्रथम पाली में पूर्णिया कॉलेज में बने परीक्षा केंद्र से बाहर निकल रहे छात्रों में से अधिकांश छात्रों को जहां प्रश्न पत्र आसान लगे और उन्हेंने सारे सवालों के जवाब दिए। वहीं कुछ छात्रों को इस बार पूछे गये प्रश्न थोड़े कठिन लगे। कुछ छात्रों को सब्जेक्टिव प्रश्नों ने परेशान किया तो कुछ को ऑब्जेक्टिव प्रश्नों ने परेशान किया। परीक्षा केंद्र से निकल रहे बलिया उच्च विद्यालय के छात्र विशाल कुमार ने बताया कि प्रश्न बहुत आसान थे। जिसका जवाब उन्होंने बड़ी आसानी से दिया।

वहीं दिलचन कुमार ने बताया कि उसे सब्जेक्टिव प्रश्नों की तुलना में ऑब्जेक्टिव प्रश्न आसान लगे। रविशंकर को ठीक इसके विपरीत लगा। रविशंकर ने बताया कि उसे ऑब्जेक्टिव की जगह सब्जेक्टिव प्रश्न थोड़े अधिक आसान लगे। उसने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष के सवाल अधिक सरल लगे। वहीं गनौरी कुमार ने बताया कि ओएमआर सीट भरने में उसका अधिक वक्त चला गया। जिस वजह से वह सारे सवालों को हल नहीं कर पाया। गनौरी ने बताया कि अगर उसे थोड़ा और वक्त दिया जाता वह सारे सवालों का जवाब दे सकता था। जिले में हुई परीक्षा की पहली पाली में कुल 18204 में से  18082 उपस्थित थे जबकि 122 अनुपस्थित रहे। वहीं दूसरी पाली में कुल 16162 में से 16042 उपस्थित थे और 129 अनुपस्थित रहे। शुक्रवार की परीक्षा में कोई भी परीक्षार्थी  निष्कासित नहीं हुए।

Loading...