पूर्णिया: आदर्श परीक्षा केंद्र बीबीएम में रेड कार्पेट पर छात्रायें चलीं नंगे पांव

नीरज मिश्रा/पूर्णिया
पूर्णिया/बिहार:  मैट्रिक परीक्षा के परीक्षार्थी सुबह आठ बजे से ही सेंटर पर पहुंचने लगे थे। सभी परीक्षार्थी के साथ उनके अभिभावक भी थे। अपनी पहली परीक्षा को लेकर सभी परीक्षार्थियों का उत्साह देखते ही बन रहा था। कुछ के चेहरे के भाव उनकी परीक्षा की तैयारी को दिखा रहे थे। वहीं कुछ छात्राएं परीक्षा भवन के गेट में प्रवेश करते समय उपर वाले को याद कर रही थी। करे क्यो नहीं क्योंकि यही से उनकी मंजिल की शुरुआत जो होनी है। कोई कोर कसर नहीं छोड़ना था। पहले ही दिन अंग्रेजी विषय की परीक्षा थी। परीक्षार्थी जैसे ही परीक्षा हॉल से बाहर निकले उनके चेहरे बता रहे थे कि परीक्षा बहुत अच्छी गई है। छात्रा आशा कुमारी ने बताया कि ऑबजेक्टिव प्रश्न बहुत बढ़िया था। कोई दिक्कत नहींं हुई थी। छात्रा रिचा कुमारी व चांदनी कुमारी ने बताया कि 50 नंबर का ऑबजेक्टिव बहुत आसान था। नया पैटर्न बहुत अच्छा था।
जब रेड कार्पेट पर छात्रायें चली नंगे पांव
कहने को जिले के बीबीएम स्कूल आदर्श सेंटर बनाया गया था। रेड कार्पेट भी बिछाया गया। गेट पर फुल पत्ती भी लागाई गई। लेकिन जब छात्राओं के सेंडल से लेकर स्लीपर तक उतरवा कर के उनकों रेड कार्पेट पर नंगे पाव चलने को कहा गया। वहीं छात्राओं की चेकिंग मेन गेट पर ही की जा रही थी। जब इसको लेकर सवाल पूछा गया तो बोला गया आप आपना काम कीजिए। वही जब इस बात पर वीक्षक से पूछा गया तो उनका कहना था कि ये ऊपर से ही आदेश है मै क्या करुं। अब आपलोग भी यहां से निकलिये धारा 144 लागू  है।
जब धारा 144 की सही पड़ताल के लिए हमारी टीम पहुंची तो बीबीएम स्कूल से महज 25 कदम की दूरी पर स्थित  मंदिर पर लोगों की भीड़ लगी थी। वहीं मुख्य गेट से सटे ग्रील से ताका झांकी करते हुए लोग दिखे। शहर का एक मात्र आदर्श परीक्षा केंद्र में छात्राओं के साथ यह व्यवहार शायद ही छात्रायें भुला पाये।
धारा 144 में लगी एक घंटे की लंबी जाम
परीक्षा से एक घंटे पूर्व ही महिला कॉलेज, डॉन बॉस्को व +2 कन्या उच्च विद्यालय के पास लोगों भीड़ आसानी से दिखी। जबकि परीक्षा के दौरान धारा 144 परीक्ष लागू थी। वहीं डॉलर हाउस चौक  से लेकर कचहरी तक लगभग एक घंटे तक वहां के लोगों की रफ्तार थम गई। इतनी भीड़ लग गई कि अंदर से परीक्षा देकर परीक्षार्थी बाहर नहीं निकल पा रहे थे, वहीं बाहर के परीक्षार्थी अंदर नहीं जा पा रहे थे। इस दौरान स्थानीय प्रशासन कहीं नहीं दिखी। जिससे परीक्षार्थियों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा।
डीईओ मिथिलेश प्रसाद ने बताया कि जिले में शांति पूर्ण और कदाचारमुक्त  माहौल में परीक्षा जारी है । जिले से एक भी एफआईआर व निष्कासन की खबर नहीं है। मैट्रिक परीक्षा के पहले दिन दो पालियों में अंग्रेजी विषय की परीक्षा थी। जिसमें प्रथम पाली में 18217 में से 18093 परीक्षार्थी उपस्थित हुए वहीं 124 अनुपस्थित थे। वहीं दूसरी पाली में 16206 परीक्षार्थियों में कुल 16079 उपस्थित व 127 अनुपस्थित थे।
Loading...