पूर्णिया: 105 लीटर शराब बरामद, तस्करी के आरोप में दो गिरफ्तार

नीरज झा/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  शराबंदी को धता बताते हुए हर दिन बिहार में शराब तस्करी का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। आंकड़ों से पता चल रहा है कि लगभग आए दिन बिहार में किसी ना किसी जगह शराब बरामद किये जा रहे हैं। शराब की तस्करी में शामिल तस्कर भी गिरफ्तार किये जा रहे हैं। उसके बावजूद जिस तरह से शराब की तस्करी हो रही है उससे ये साफ हो जाता है कि इस पूरे तस्करी का किंग पिन यानि बड़ी मछली अभी भी पकड़ से बाहर है। और जिन्हें तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया जा रहा है वो महज एक मोहरा भर हैं।
बिहार के पूर्णं शराबंदी की दूसरी वर्षगांठ अगले महीने में पूरी होने वाली है। ऐसे में शराब मिलना सरकार के शराबंदी के सरकारी दावे को खारिज कर रहा है।
फिलहाल शराब तस्करों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्णिया जिले के डगरूआ थाना पुलिस ने बरसौनी टोल प्लाजा के पास वाहन चेकिंग के दौरान कुल 105 लीटर शराब बरामद किया है।  इस दौरान पुलिस ने दो तस्करों को भी गिरफ्तार किया है। हरे रंग की मारूति कार जिसका नंबर DL3Ck – 8778 है उसी कार से  वाहन चेकिंग में पुलिस ने डिक्की और  सीट के नीचे से यह शराब बरामद की है।
इतनी भारी मात्रा मे शराब का मिलना खुद में बडा सवाल है कि बिहार में शराबंदी को धता बताते हुए शराब की तस्करी कैसे होती है? पुलिस ने जिन दो  शराब तस्करों को गिरफ्तार किया है वो मो. नौशाद आलम पिता मो. इसराईल आलम साकिन इस्लामपुर थाना किशनपुर जिला सुपौल और प्रियतम कुमार पिता योगेन्द्र कुमार यादव पिता साकिन थाना मधेपुरा  जिला मधेपुरा के निवासी है। हलांकि तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।शराब की खेप कहां से कहां जा रही थी ये बातें स्पष्ट नहीं हो पाई है।
Loading...