बिहार में गलत बिजली बिल से मिलेगी निजात, अब लगेगा प्री-पेड बिजली मीटर

बिहार में गलत बिजली बिल से मिलेगी निजात, अब लगेगा प्री-पेड बिजली मीटर

कुमार गौरव/पूर्णिया

पूर्णिया/बिहार:  जिलेवासियों के लिए खुशखबरी है। अब विद्युत विभाग प्रीपेड बिजली मीटर से आमजनों को रू-ब-रू कराएगा। इस दिशा में कवायद तेज कर दी गई है और जल्द ही आवेदकों को प्री-पेड बिजली मीटर की सुविधा नसीब होगी। नार्थ बिहार पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कार्पोरेशन लिमिटेड द्वारा पहले चरण में प्री-पेड बिजली मीटर के लिए सूबे के पटना, दरभंगा, हाजीपुर व पूर्णिया को चिन्हित किया गया है। इन जिलों में सफलता मिलने के बाद जल्द ही सूबे के शेष जिलों में इस सुविधा को हरी झंडी दिखा दी जाएगी।

बता दें कि फिलवक्त जिले में प्री-पेड उपभोक्ताओं की संख्या महज 600 ही है। लेकिन विभाग द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर इस मीटर को तीव्र गति से प्रसारित किए जाने की योजना है। इस बाबत विद्युत कार्यपालक अभियंता पूर्णिया प्रवीण कुमार कहते हैं कि पायलट बेसिस पर इस योजना को अमल में लाया गया है। फिलहाल शहर में सीमित कमर्शियल कनेक्शन व डॉक्टर्स को ही यह कनेक्शन दिया गया है। उन्होंने कहा कि जो भी आवंटित कनेक्शन थे उसे अपडेट किया जा चुका है और जल्द ही शिविर लगाकर आमजनों को भी प्री-पेड बिजली मीटर की सुविधा लगाए जाने की दिशा में जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिंगल व थ्री फेज कनेक्शन के लिए फिलहाल प्री-पेड बिजली कनेक्शन उपलब्ध हैं और इसका पेमेंट एटीएम कार्ड या फिर ऑनलाइन भी मुमकिन हो पाएगा।

मीटर रीडिंग और गलत बिलिंग का नहीं रहता है झंझट
आमतौर पर लोग मीटर रीडिंग और गलत बिलिंग को लेकर परेशान रहते हैं। लेकिन प्री-पेड बिजली मीटर लगाने के बाद इन झंझटों से मुक्ति मिल जाएगी। प्री-पेड मोबाइल सिम की तरह रिचार्ज किए जाने इस बिजली मीटर में जरूरत के हिसाब से ही टैरिफ दिया जाना संभव हो पाएगा और लोग अपनी मनमर्जी से बिजली का उपयोग कर सकेंगे। टैरिफ समाप्त होते ही बिजली कनेक्शन स्वत: बंद हो जाएगा। दोबारा बिजली सेवा लेने के लिए मीटर को रिचार्ज करना पड़ेगा।

इस संबंध में प्री-पेड बिजली मीटर की फ्रेंचाइजी कंपनी एचपीएल इलेक्ट्रिक एंड पॉवर प्राइवेट लिमिटेड के प्री-पेड इंचार्ज कुमार शंभुनाथ कहते हैं कि यह बेहद उपयोग विद्युत यंत्र है। इस मीटर के उपयोग में  लाने से लोगों को न सिर्फ गलत बिजली बिल की समस्या से छुटकारा मिलेगा बल्कि अपनी जरूरत के हिसाब से ही इसका उपयोग कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि पटना, दरभंगा, हाजीपुर व पूर्णिया में आवंटित किए गए मीटर का अच्छा रिस्पांस मिला है और ऐसा संभव है कि जल्द ही इस सुविधा को आमजनों के लिए चालू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कमर्शियल व डोमेस्टिक के पुराने कनेक्शन भी सिर्फ एक आवेदन के सहारे इस मीटर को लगाया जा सकता है।

एक केवी के लिए खर्च होंगे 55 रूपए
प्री-पेड इंचार्ज कहते हैं कि एक केवी कनेक्शन लेने के लिए 55 रूपए, मीटर रेंट 20 रूपए के अलावे जितना यूनिट उर्जा खपत होगी उसकी राशि उपभोक्ताओं को चुकानी होगी। कमर्शियल कनेक्शन के लिए एक केवी के लिए 180 रूपए मीटर रेंट 20 रूपए और प्रति यूनिट की दर अलग से देय होगी। इसके अलावे जैसे जैसे केवी का लोड बढ़ेगा वैसे वैसे प्रति केवी 15 रूपए अतिरिक्त देय होगा। उन्होंने कहा कि प्री-पेड बिजली मीटर को नए फीचर्स के साथ आमजनों के बीच लाए जाने की तैयारी चल रही है। जिसमें तकनीकी खराबी कम होगी।

गलत बिजली बिल की नहीं रहेगी समस्या
पूर्णिया के विद्युत कार्यपालक अभियंता प्रवीण कुमार ने बताया  जिले में फिलहाल सरकारी कार्यालयों, शिक्षण संस्थानों में पायलट बेसिस पर लगाया गया है और डिमांड बढ़ने के साथ ही इस सुविधा को आमजनों के लिए भी सुनिश्चित कर दिया जाएगा। सिविल कोर्ट में इस मीटर को इंस्टॉल किया गया है और जिलाधिकारी से भी समाहरणालय समेत अन्य सरकारी दफ्तरों में प्री-पेड बिजली मीटर लगाए जाने पर सहमति बनी है। जिसके बाद बिजली बिल भुगतान की समस्या नहीं रहेगी।

Loading...