बिहार में चिमकी बुखार के 75 नए मामले आए, अबतक 122 बच्चों की मौत

पटना:  बिहार के मुजफ्फरपुर में चिमकी बुखार काबू में नहीं आ रहा है। रोजाना नए मामले सामने आ रहे हैं और बच्चों की मौत का आंकड़ा भी आगे बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में चिमकी बुखार के 75 नए मामले सामने आ चुके हैं। जबकि इस बुखार से मरनेवाले बच्चों की संख्या अबतक 122 हो चुकी है। मौत के इतने बड़े आंकड़े बाद भी राज्य सरकार ये बताने में नाकाम रही है कि आखिर क्यों हो रही है ये बीमारी। डॉक्टर भी इसे सही तरीके से समझ पाने में कामयाब नहीं हुए हैं।

इस बीमारी का खास असर मुजफ्फरपुर में देखा जा रहा है। लेकिन अब उसके आसपास के इलाकों से भी इस बीमारी से पीड़ित मरीज सामने आने लगे हैं। मुजफ्फरपुर का SKMCH अस्पताल बच्चों के मां-बाप की चीख से गूंज रहा है। अस्पताल के भीतर की हालत ये है कि एक-एक बेड पर दो-दो बच्चों का इलाज किया जा रहा है।

मरीजों की तादाद ज्यादा है लेकिन उसके मुकाबले डॉक्टर कम पड़ रहे हैं। कई जरूरी दवाइयां भी अस्पताल में नहीं हैं। मुजफ्फरपुर में पिछले 21 दिनों से ये बीमारी मौंत बांट रही है। लेकिन 20 दिन बाद सीएम नीतीश कुमार की नींद खुली और वो मुजफ्फरपुर के SKMCH अस्पताल पहुंचे। लेकिन बिना कुछ कहे डॉक्टरों के साथ मीटिंग कर वहां से निकल गए।

अस्पताल के बाहर मौजूद बीमार बच्चों के परिजन ये उम्मीद लगाए बैठे थे कि सीएम आए हैं तो कुछ बेहतर इंतजाम के बारे में बताएंगे, दवाइयों की किल्लत दूर करने की बात करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सीएम की इस खामोशी ने लोगों के सब्र का बांध भी तोड़ दिया और लोग सीएम के खिलाफ नारे लगाने लगे।

(Visited 27 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *