मुंगेर: 30 घंटे बाद सना को बोरवेल से बाहर निकाला गया, अस्पताल में भर्ती किया गया

मुंगेर/बिहार:  बिहार के मुंगेर में 30 घंटे से बोरवेल में गिरी तीन साल की सना को बाहर निकाल लिया गया है। सना 45 फीट गहरे बोरवेल के गड्ढे में गिर गई थी। जिसके बाद से लगातार उसे बचाने की कोशिश की जा रही थी। सना को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए जिला प्रशासन, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की तरफ से युद्ध स्तर पर कोशिश की गई। जिसके बाद उसे बाहर निकाला गया। सना मंगलवार को शाम के सात बजे बोरवेल के गड्ढे में गिर गई थी।

बोरवेल से बाहर निकालने के बाद शुरुआती जांच में सबकुछ सामान्य पाया गया। उसके शरीर के सभी अंग सही तरीके से काम कर रहे हैं। बोरवेल से बाहर सना को मुस्कुराता देखकर सभी को बड़ी राहत मिली है।

बचाव दल ने सना को पानी पिलाया। बोरवेल में उसका पैर फंस गया था। जिसकी वजह से उसे बाहर निकालने में दिक्कत हो रही थी। एसडीआरएफ की टीम मंगलवार से ही सना को बचाने में लगी थी। जिसके बाद बुधवार को एनडीआरएफ की टीम को भी इस काम में लगाया गया। शाम के वक्त वहां तेज बारिश भी शुरु हो गई। जिसकी वजह से बचाव कार्य में बाधा भी आई।

घटनास्थल पर एंबुलेंस पहले से ही बुला ली गई थी। बोरवेल से बाहर निकालने के बाद सना को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है। सना को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने के लिए सड़क पहले से ही खाली करा लिया गया था। शहर में वन वे लागू कर दिया गया था। ताकि एंबुलेंस जल्द से जल्द अस्पताल पहुंच सके।

Loading...