मधेपुरा:सड़क किनारे स्थित मध्य विद्यालय कुमरगंज में दुर्घटना की आशंका से नही आते बच्चे

प्रियांशु आनंद/मधेपुरा
उदाकिशुनगंज/बिहार:रामपुर खोड़ा पंचायत अंतर्गत सड़क किनारे 14 कमरों में संचालित हो रहा मध्य विद्यालय कुमरगंज में नामांकन पत्र पर तो बच्चों की संख्या बढ़ रही है लेकिन अभिभावक द्वारा बच्चों को दुर्घटना की आशंका के कारण विद्यालय नही भेजा जाता है।

इस बात पर जब उदाकिशुनगंज के संवाददाता ने विद्यालय पहुंच अभिभावकों से पूछताछ की तो विद्यालय के चारदीवारी न होने की बात सामने आयी।अभिवावकों का कहना है कि चारदीवारी न होने के कारण दुर्घटना के संभावना बनी रहती है।

बता दे कि विद्यालय के सामने से यह मार्ग उदाकिशुनगंज के कॉलेज चौंक से खोड़ागंज , भवानंदपुर होते हुए नयानगर खुरहान मार्ग को जोड़ता है।ऐसे में इस मार्ग पर छोटे बड़े सभी प्रकार के वाहनों का आवाजाही बनी रहती है।जिस कारण दुर्घटना से बचाव के लिए शिक्षकों को हर समय बच्चों का ध्यान रखना पड़ता है।

इस प्रधानाध्यापिका रंभा कुमारी ने बताया कि विद्यालय में 250 के करीब बच्चों का नामांकन है लेकिन करीब 150 बच्चे ही उपस्तिथ हो पाते है।जबकी इस विद्यालय में कुल 6 शिक्षक नियुक्त हैं।जिसमें तीन शिक्षक और तीन शिक्षिका कार्यरत है।

कई बार उच्च अधिकारियों को समस्या से अवगत करवाया गया…
दुर्घटना से बचाव के लिए दो शिक्षक हमेशा निगरानी में रहते है वही एक शिक्षक विभागीय कार्य डाक, पोषाहार आदि में व्यस्त रहते है।हालांकि प्रधानाध्यापिका रंभा कुमारी ने बताया कि कई बार इस समस्या से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया है।लेकिन अभी तक समस्या को समाधान नही हो पाया है।

इस कारण बच्चे हो रहे खेल से दूर…

विद्यालय परिसर में काफी जगह रहने के बावजूद
चारदीवारी विहीन होने के कारण बच्चों को खेल के लिए आज़ादी नही दी जाती है।और ना ही विद्यालय द्वारा खेलकूद करवाया जाता है।

विद्यालय परिषर होता है गलत उपयोग…

शिक्षकों ने बताया कि चारदिवारी न होने के कारण और विद्यालय के मुख्य सड़क पर होने के कारण बड़ी-बड़ी गाड़ियों को घुमाने के लिए भी विद्यालय परिसर का प्रयोग किया जाता है।और यहां तक की कई बार पठन पाठन के दौरान कई आवारा पशु भी आ जाते है.जिससे पढ़ाई के दौरान बाधा होती है।

राशि उपलब्ध होने पर करवाया जायेगा निर्माण..

विद्यालय में चारदिवारी ना होने की समस्या को लेकर चारदिवारी निर्माण की सूची बनाकर वरीय पदाधिकारी पटना को भेज दिया गया है।राशि उपलब्ध होने के बाद जल्द करवाया जायेगा निर्माण।
सर्व शिक्षा डीपीओ: गरीश कुमार

Loading...