मधेपुरा: पुर्णिया यूनिवर्सिटी में सत्र संचालन और परीक्षा पर नए VC का नजरिया

नीरज झा/मधेपुरा
मधेपुरा/बिहार:  बीएचयू में 1800 और कोलकाता में 700 कोर्स की पढ़ाई होती है। यहां केवल 30 से 35 कोर्स की पढ़ाई हो रही है। बीएनएमयू से बंटवारे के बाद पूर्णिया विवि में अधिक से अधिक कोर्स की पढ़ाई शुरू कराई जाएगी। विश्वविद्यालय को विश्वस्तरीय बनाया जाएगा। ये बातें पूर्णिया विवि के नवनियुक्त कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने गुरुवार को बीएनएमयू में कहीं।
इससे पहले कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने बीएनएमयू के कुलपति डॉ. अवध किशोर राय से उनके कार्यालय कक्ष में मुलाकात कर यूनिवर्सिटी विभाजन को लेकर करीब 2 घंटे तक लंबी वार्ता की। इसमें मुख्य रूप से शैक्षणिक, प्रशासनिक व वित्तीय सहित अन्य दायित्वों को लेकर बातें हुई। लेकिन पहली मुलाकात में ही दो बिंदुओं पर सहमति नहीं हो सकी।
इसमें सत्र 2017 तक की सभी परीक्षाओं के एक साथ आयोजन और विश्वविद्यालय पैनल के छात्र संघ चुनाव पर संशय बरकरार रह गया। हालांकि बीएनएमयू के कुलपति प्रो. राय ने कहा कि छात्र संघ चुनाव को लेकर मार्गदर्शन के लिए राजभवन को पत्र लिखा जाएगा। संयुक्त रूप से परीक्षा आयोजन पर सत्र नियमित होगा। लेकिन अंतिम निर्णय पूर्णिया विवि को लेना है। विवि बंटवारे पर पूर्णिया विवि के कुलपति प्रो. सिंह ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से सिलसिलेवार बंटवारे की प्रक्रिया चलेगी। इस अवसर पर परिसंपदा पदाधिकारी शैलेन्द्र कुमार, पीआरओ डॉ. सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभु नारायण यादव, राजीव कुमार उपस्थित थे।
विभिन्न मुद्दों पर हुई बातचीत
छात्र संघ चुनाव को लेकर राजभवन से सलाह मांगी जाएगी। सरकार से शिक्षक और कर्मियों की मांग की जाएगी। पूर्णिया विवि के कुलपति ने मीडिया से बातचीत में  कहा कि सबसे पहले सत्र को नियमित करेंगे। उसके बाद परीक्षा में पारदर्शिता लाएंगे। तीन साल में 30 यूनिवर्सिटी से एमओयू कराने की कोशिश होगी। बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर को खड़ा करना है। नामांकन, पंजीयन, परीक्षा एवं परीक्षाफल प्रकाशन ऑनलाइन होगा। उन्होंने कहा कि कोर्स शुरू कराने के लिए शिक्षकों व कर्मचारियों की मांग सरकार से की जाएगी।
प्रशासनिक, शैक्षणिक व वित्तीय मामलों पर भी चर्चा हुई।
मुलाकात में प्रशासनिक, शैक्षणिक व वित्तीय मामलों पर चर्चा हुई। इसमें पूर्णिया विवि अंतर्गत पूर्णिया, कटिहार, अररिया एवं किशनगंज जिले के 13 अंगीभूत कॉलेजों के शिक्षक एवं कर्मचारियों के समन्वय के साथ-साथ बजट में सरकार से प्राप्त वेतन व पेंशन मद की राशि हस्तगत कराने के अलावा पूर्णिया प्रमंडल के 21 संबद्ध डिग्री कॉलेज, 2 मेडिकल कॉलेज, 3 इंजीनियरिंग कॉलेज एवं 6 बीएड कॉलेजों में सत्र 2017 तक नामांकित छात्रों के परीक्षा आयोजन व परीक्षाफल प्रकाशन पर दोनों कुलपति ने वार्ता की।
पूर्णिया विवि को हर संभव सहयोग मिलेगा : प्रो. राय कुलपति बीएनएमयू
पूर्णिया विवि के कुलपति प्रो. राजेश सिंह के बीएनएमयू आगमन पर बीएनएमयू के कुलपति डाॅ. राय ने शॉल व बुके देकर स्वागत किया। मौके पर बीएनएमयू के कुलपति ने कहा कि बीएनएमयू पूर्णिया विवि पूर्णिया की मातृ संस्था है और यहां से हमेशा नए विवि को सकारात्मक सहयोग मिलता रहेगा। उन्होंने कहा कि अविभाजित बीएनएमयू सात जिलों में फैला था। अब यहां मात्र तीन जिले के शिक्षण संस्थान बचेंगे। इससे प्रशासनिक कार्यों में सुविधा होगी।
Loading...