कहलगांव: सेंट जोसफ स्कूल में UKG की बच्ची की टीचर ने बेरहमी से पिटाई की, Video

कहलगांव/भागलपुर:  बिहार के कहलगांव में स्कूल में टीचर के गुस्से के सामने मानवता की धज्जी उड़ा दी गई। यहां स्कूल के UKG में पढ़ने वाली सविता (बदला हुआ नाम) की इसलिए पिटाई कर दी गई क्योंकि उसने डायरी में गार्जियन से साइन नहीं करवाया था। टीचर साक्षी ने पिटाई इतनी बुरी तरह से की, कि बच्ची के शरीर पर कई जगहों पर चोट के निशान उभर आए हैं। पीड़ित बच्ची ने टीचर का नाम साक्षी मैम बताया है।

बच्ची का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद स्कूल प्रशासन भी सकते में है। newstrendindia ने सविता के पिता चंचल भारती से स्कूल के इस गैरजिम्मेदाराना रवैये के बारे में बात की। जिसमें चंचल भारती ने बताया कि इस बारे में उन्होंने स्कूल प्रशासन से शिकायत की। जिसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल ने उनसे बात की।

चंचल भारती के मुताबिक स्कूल प्रशासन अपने किये पर शर्मिंदा है। उन्होंने newstrendindia उस टीचर से भी बात की जिसने उनकी बेटी की पिटाई की थी। जिसमें आरोपी महिला टीचर का कहना था कि उसने केवल बच्ची को एक छड़ी मारी थी। लेकिन सवाल ये है कि क्या छड़ी से एक बार मारने पर शरीर पर अलग अलग जगहों पर निशान उभर सकते हैं।

अभिभावक के इस सवाल का टीचर के पास कोई जवाब नहीं था। अभिभावक ने कहा कि आप मुझे एक छड़ी उसी तरह से मारो जैसे आपने मेरी बेटी को मारा था। अगर मेरे शरीर पर अलग अलग जगहों पर निशान हो जाएंगे तो मैं अपनी शिकायत वापस ले लूंगा।

चंचल भारती के मुताबिक स्कूल के प्रिंसिपल ने उनसे कहा अगर वो कहें तो वो आरोपी टीचर को भी नौकरी से हटा देंगे। लेकिन यहां सवाल स्कूल पर भी उठ रहे हैं। स्कूल मैनेजमेंट ने आरोपी टीचर के खिलाफ कार्रवाई करने में अभिभावक की इजाजत क्यों मांग रहा है। पीड़ित बच्ची के पिता ने newstrendindia से बातचीत में कहा कि आप अगर लिख कर दे दें तो टीचर को हटा दिया जाएगा। क्या स्कूल की ये जिम्मेदारी नहीं बनती है कि वो अपने स्तर से इसपर कार्रवाई करे। आखिर स्कूल अभिभावक के कंधे पर बंदूक रखकर क्यों चलाना चाहता है।

Newstrendindia ने भी स्कूल प्रिंसिपल से फोन पर संपर्क करने की कोशिश की लेकिन फोन रिसीव नहीं किया गया। हम दोबारा स्कूल से इस मामले में संपर्क करने की कोशिश करेंगे। क्योंकि हम चाहते हैं कि इस तरह के गंभीर आरोप में स्कूल का पक्ष भी सामने आए।

Loading...