घोरैया: किसानों की समस्या को लेकर कांग्रेस का धरना, सौंपा ज्ञापन, Video

धोरैया/बिहार:  अलग-अलग राज्यों में किसानों दोहरी लड़ाई लड़नी पड़ रही है। किसान एक लड़ाई कुदरत के साथ लड़ रहे हैं वहीं दूसरी लड़ाई सिस्टम के साथ होती है। दोनों लड़ाई में फर्क ये है कि पहली लड़ाई में किसान के पास केवल दुआ कर सकते हैं और कभी कभी कुदरत के पास होनेवाली इस लड़ाई में उन्हें जीत मिल भी जाती है। लेकिन दूसरी लड़ाई जो सिस्टम के साथ लड़ी जाती है उसने किसानों को इस कदर तोड़ दिया है कि प्राय: किसानों को वहां पर पराजय को ही स्वीकार करना पड़ता है।

धौरैया में भी यही हो रहा है। जहां किसान अपनी फसल उगाने के लिए मेहनत तो करते हैं लेकिन उनकी आमदनी इतनी नहीं होती है कि वो इससे खुश हो सकें। वजह ये है कि किसान फसल तो लगा देते हैं लेकिन सिंचाई की सुविधा नहीं होने की वजह से उन्हें निराशा का सामना करना पड़ता है। किसानों की इन्हीं 14 मांगों को लेकर कांग्रेस की तरफ से धरना दिया गया। जिसकी अगुवाई पुष्पेंद्र कुमार सिंह ने की।

किसीनों को मुख्य मांग ये है कि उनके खेतों में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। जो गन्ना किसान हैं उनके लिए राज्य में सुविधाओं का घोर अभाव है। राज्य की गन्ना मिलें बंद पड़ी हैं। लिहाजा उन्हें अपने फसल को बेचने के लिए दूसरे राज्य का रुख करना पड़ता है। राज्य के किसानों को फसलों का समर्थन मूल्य भी काफी कम मिलता है। जिसकी वजह से किसान आत्महत्या के लिए मजबूर होते हैं। किसानों की 14 मांगों वाला ज्ञापन बीडीओ अभिनव कुमार झा और सीओ विरेंद्र कुमार को सौंपा गया।

क्योंकि मेहनत किसान करते हैं लेकिन मालामाल बिचौलिये होते हैं। हाल के दिनों में किसानों की समस्या बालू माफियाओं ने और भी बढ़ा दी है। नदी से लगातार बालू उठाव की वजह से नदी का स्तर काफी नीचे चला गया जिसकी वजह से जिस पानी से पहले खेतों मं सिंचाई हुआ करती थी अब वो भी खत्म हो गया।

(Visited 12 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *