नाथनगर हिंसा: केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे के खिलाफ FIR

नीरज झा/ भागलपुर

भागलपुर/बिहार:  भागलपुर जिले में सिल्क सिटी के नाम से मशहूर नाथनगर में शनिवार की शाम  में हुए दो पक्षों के बीच मारपीट और पत्थरबाजी में केंद्रीय राज्य मंत्री अश्वनी चौबे के पुत्र अर्जित शाश्वत चौबे पर मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावे 500 अन्य लोगों पर भी मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि भारतीय नूतन वर्ष की पूर्व संध्या पर शनिवार को नाथनगर में शोभायात्रा जुलूस निकाली गयी थी, जिसमें अर्जित के समर्थक मोटरसाइकिल पर भी सवार थे।  बताया जा रहा है जुलूस  अर्जित शाश्वत के नेतृत्व में  ही निकाला गया था ।

इन सबों पर लोगों की भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया गया है। प्रशासन की मानें तो इनलोगों के द्वारा प्रशासनिक अनुमति नहीं ली गई थी कि जुलूस किधर से होकर निकाली जाएगी। शनिवार को अर्जित ने अपने समर्थकों के साथ नाथनगर में मोटरसाइकिल जुलूस निकाली थी। जो जानकारी निकलकर सामने आ रही है उसके मुताबिक जब ये मोटरसाइकिल जुलूस अल्पसंख्यकों के मोहल्ले से गुजर रहा था तभी जुलूस में शामल कुछ लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए। जिसके जवाब में दूसरी  तरफ से भी नारे लगाए। इसी में दोनों पक्षों के बीच तनाव हो गया और देखते देखते इसने उग्र रूप ले लिया। वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया था। दुकानों तक में तोड़फोड़ की गई थी।

नाथनगर थाना के इंस्पेक्टर ने मंदिर में छुपकर अपनी जान बचाई थी। पत्थरबाजी की इस घटना में कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।सूत्रों का कहना है कि उग्र पक्ष की ओर से पंद्रह राउंड गोलियां भी चलाई गई थी। अफवाहों के बाजार को शांत करने के लिए इंटरनेट सेवा को तत्काल प्रभाव से बंद करना पड़ा था। इसके बाद चार जिलों की पुलिस, क्विक रिएक्शन टीम, पुलिस लाइन और सीटीएस से भी अतिरिक्त पुलिसबलों को बुलाया गया था जिसके बाद स्थिति सामान्य हुई थी। रविवार को भी नाथनगर में स्थित तनावपूर्ण थी लेकिन प्रशासनिक महकमा काफी दुरस्त था हलाकि अब महौल को लेकर शांति कायम है।
Loading...