भागलपुर: अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत को मिली जमानत

भागलपुर/बिहार:  भागलपुर के नाथनगर में हुए हिंसा में आरोपी बनाए गए अर्जित शाश्वत को भागलपुर जेल से जमानत मिल गई है। रामनवमी के मौके पर भागलपुर से सटे नाथनगर में दो समुदायों के बीच हिंसा हुई थी। जिसमें कई पुलिसकर्मियों को भी चोट लगी थी। जिसके बाद कई दिनों बाद मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत को गिरफ्तार किया गया था।

दरअसल रामनवमी के करीब हुए नाथनगर दंगे में आरोप ये लगाए गए थे कि दंगे वाले दिन आरएसएस की अगुवाई में वहां कलश यात्रा निकाली गई थी। जिसमें भड़काऊ संगीत बजाया गया था। साथ ही भड़काऊ नारे भी लगाए गए थे। जिसके बाद दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई थी।

अर्जित शाश्वत पर आरोप लगे थे कि उन्होंने लोगों को भड़काने का काम किया। अर्जित पर तनाव बढ़ाने वाले नारे लगाने के भी आरोप लगाए गए थे। उसके बाद से ही बिहार की सियासत और सरकारी महकमें में अर्जित को लेकर बेचैनी बढ़ गई थी।

क्योंकि आरोपी बनाए जाने के कई दिनों बाद भी अर्जित को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी थी। जिसके बाद पुलिस और बिहार सरकार पर अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित को बचाने के आरोप लगे थे। आखिरकर काफी फजीहत के बाद अर्जित ने पटना में हनुमान मंदिर के पास पुलिस को समर्पण कर दिया था।

Loading...