CM YOGI

सीएम योगी ने आधी रात को लिए इतने बड़े फैसले कि जगमग हो गया पूरा यूपी

सीएम योगी ने आधी रात को लिए इतने बड़े फैसले कि जगमग हो गया पूरा यूपी

नई दिल्ली: यूपी में योगी की वो सरकार बनी है जो राज्य की तरक्की के लिए दिन और रात में फर्क नहीं करती। ठीक उसी तरह से जैसे योगी सरकार ने साफ कर दिया है कि प्रदेश में अब केवल विकास होगा तुष्टिकरण नहीं। यूपी को तरक्की की अग्रिम पंक्ति में खड़ा करने के इसी संकल्प को कामयाब बनाने के लिए सरकार दिन रात काम में जुटी है।

गुरुवार को रात के एक बजे योगी सरकार ने कई अहम फैसले लिये। बिजली को लेकर योगी सरकार ने फैसला लिया कि यूपी के हर गांव में अब शाम छह बजे से सुबह के छह बजे तक बगैर कटौती के बिजली मिलेगी। 14 अप्रैल से जिला हेडक्वाटर में 24 घंटे बिजली मिलेगी। तहसील और गांव में 18-18 घंटे बिजली सप्लाई के आदेश दिये गए हैं। अगले 100 दिनों में राज्य में पांच लाख बिजली के कनेक्शन देने के आदेश दिये हैं।

ये भी पढें :

– शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ से एयर इंडिया ने प्रतिबंध हटाया

नोएडा के पास ही जेवर में एयरपोर्ट को मंजूरी दे दी गई है। जेवर में एयरपोर्ट बनाने का फैसला मायावती के टाइम में लिया गया था। लेकिन उसके बाद उनकी सत्ता चली गई। और अखिलेश जब सीएम बने तो उन्होंने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया। क्योंकि अखिलेश अगरा में एयरपोर्ट बनाना चाहते थे।

ये भी पढें :

– अमेरिका ने सीरिया के खिलाफ कर दिया है जंग का एलान, दागे जा रहे हैं घातक मिसाइल

राज्य की सभी सरकारी योजनाओं से समाजवादी शब्द हटाया जाएगा। अब उसकी जगह पर मुख्यमंत्री जोड़ा जाएगा। दरअसल अखिलेश सरकार में अधिकतर योजनाओं में सबसे पहले समाजवादी शब्द जोड़ा गया था। जैसे समाजवादी पेंशन योजना, 108 समाजवादी एंबुलेंस सेवा।

ये भी पढें :

– अलवर हत्याकांड पर संसद में हंगामा, विपक्ष ने केंद्रीय मंत्री नकवी से माफी की मांग की

शराब के खिलाफ भी योगी सरकार ने आधी रात को बड़ा फैसला लिया। राज्य के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा रिहाइशी इलाकों में किसी शराब दुकान की किसी सूरत में अनुमति नहीं दी जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हाईवे किनारे के शराब दुकान रिहाइशी इलाकों में शिफ्ट हो रहे हैं। जिसका लोग खासकर महिलाएं विरोध कर रही हैं।

इसी बैठक में फैसला लिया गया कि उद्यमियों की समस्याओं का निस्तारण सिंगल विंडो सिस्टम के तहत जल्दी से जल्दी किया जाए
उद्योगों और अवस्थापना विकास के लिए किसानों से भूमि अधिग्रहण होगी

नियमों व प्रक्रियाओं को सरलीकृत और पारदर्शी बनाया जाए और कम से कम समय में उद्योग स्थापित करने के लिए आवश्यक क्लीयरेन्स जारी किए जाएं।

ये भी पढें :

– नेशनल फिल्म अवॉर्ड: ‘नीरजा’ को बेस्ट फिल्म और अक्षय बने बेस्ट एक्टर

प्रार्थना पत्रों की ऑनालइन फाइलिंग और उनकी समयबद्ध स्वीकृति की प्रभावी व्यवस्था लागू की जाए
खादी ग्रामोद्योग और सोलर पावर को बढ़ावा दिया जाएगा।

11 अप्रैल को योगी सरकार दोबारा कैबिनेट की बैठक करेगी। जिसमें उम्मीद की जा रही है कि कई बड़े फैसले लिये जाएंगे।

Loading...

Leave a Reply